अपराधों पर नियंत्रण और धर्मांतरण को रोकने निगरानी एवं सुरक्षा समिति का गठन… कल बंद का ऐलान

57

अपराधों पर नियंत्रण और धर्मांतरण को रोकने निगरानी एवं सुरक्षा समिति का गठन… कल बंद का ऐलान

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। दक्षिण बस्तर की शांत फिजा में जहर घोलने बाहरी प्रदेशों से व्यवसाय करने के नाम पर आए हुए कुछ लोगों, असामाजिक तत्वों एवं बस्तर अंचल में तेजी से हो रहे धर्मांतरण पर चिंता जताते सर्व बस्तरिया समाज के बैनर तले शनिवार को माईजी की बगिया में बैठक आहूत की गई।

बैठक में कई गंभीर विषयों पर चर्चा उपरांत अपराध पर अंकुश लगाने एवं अन्य प्रदेशों से आने वाले बाहरी तत्वों को रोकने के लिए निगरानी एवं सुरक्षा समिति का गठन किया गया। जिसमें सर्व सम्मति से तुलिका कर्मा को समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

जिले में बढ़ते अपराध एवं धर्मांतरण पर आक्रोश जताते निगरानी एवं सुरक्षा समिति ने सोमवार 22 फरवरी को एक दिवसीय दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिला बंद की घोषणा की। जिसका सभी सदस्यों ने सर्व सम्मति से समर्थन किया।

यह भी पढ़ें :  चुनाव ड्यूटी में तैनात SSB जवान ने खुद को मारी गोली, इलाज के दौरान हुई मौत

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों में दंतेवाड़ा, गीदम समेत जिले के अन्य नगर एवं कस्बों में तेजी से अपराध में बढ़ोत्तरी हुई है। हाल ही में व्यवसायिक नगरी गीदम थाने अंतर्गत में चोरी, डकैती, लूटपाट, तस्करी, अनाचार, भूमि-अतिक्रमण, धर्मातरण जैसी कई घटनाएं हुई है। जिले में असामाजिक तवों का जमावाड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है।

दीगर राज्यों से व्यापार एवं अन्य पेशे की आड़ में कुछ असामाजिक तत्व घुसपैठ कर रहे हैं। जिनकी कोई पहचान पुलिस थानों में नहीं होती। बाहरी लोग आसानी से शहर में अपनी असली पहचान छुपाकर किराये का मकान भी छुपने के लिए तलाश लेते हैं और अपराध को अंजाम देते हैं।

यह भी पढ़ें :  शादी समारोह में कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन, 20 हजार रुपए का भरना पड़ा जुर्माना

ये बाहरी तत्व कुछ दिन शहर में रहकर व्यवसाय करते हैं और मौका देखते ही चोरी एवं लूट की घटना को अंजाम दे फरार हो जाते हैं। यहां की भोली भाली लड़कियों को प्रेमजाल में फंसाकर इनका दैहिक शोषण कर धर्मांतरण करवाने की कई घटनाएं भी सामने आ चुकी है।

ऐसे आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की कोई पहचान किसी के पास नहीं होती लिहाजा इन्हें पकड़ पाना पुलिस के लिए भी चुनौती भरा होता है। शहर में बढ़ते अपराध पर चिंता जाहिर करते सर्व बस्तरिया समाज ने शनिवार को बैठक आहूत की जिसमें सभी समाज के गणमान्य नागरिक, युवा, पत्रकार, व्यवसायी, विभिन्न संगठनों के सदस्य, जनप्रतिनिधि स्व:स्फूर्त शामिल हुए।

यह भी पढ़ें :  बासागुड़ा को वनोपज मार्केट के तौर पर ढाला था हाजी शेख हाशम ने... 93 की उम्र में इंतकाल

बैठक में सर्व समाज के लोगों ने अपनी अपनी राय रखी। लंबी चर्चा परिचर्चा उपरांत यह निर्णय लिया गया कि बाहर से आने वाले घुमन्तु व्यवसायी एवं ठेला खोमचा लगाने वाले एवं अन्य व्यवसाय करने वाले लोगों को चिन्हित कर उनका नाम एवं उनकी पूरी बायोडाटा पुलिस को दी जाएगी।

बैठक में निर्णय लिया गया कि बढ़ते अपराध एवं धर्मांतरण के विरोध में सोमवार को दंतेवाड़ा जिला बंद बुलाकर जिले के पुलिस अधीक्षक एवं कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर बाहरी तत्वों, अपराध एवं धर्मांतरण करवाने वालों पर पूरी तरह नियंत्रण लगाने की मांग समिति द्वारा की जाएगी।