अब चौंकाने लगे हैं कोरोना के बढ़ते आंकड़े ! एक ही दिन मिले 46 मरीज, संक्रमितों में फोर्स के जवान ज्यादा

25
All records of Corona broken in Bastar

अब चौंकाने लगे हैं कोरोना के बढ़ते आंकड़े ! एक ही दिन मिले 46 मरीज, संक्रमितों में फोर्स के जवान ज्यादा

पंकज दाऊद @ बीजापुर। जिले में अब कोरोना के बढ़ते मामले चौंकाने लगे हैं और इसे देखते बाहर से आने वाले लोगों के लिए चार दिनों का क्वारेंटाइन अनिवार्य कर दिया गया है। जिले में मंगलवार को ही 46 केस सामने आए और इसके साथ ही एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 172 पहुँच गई है।

सूत्रों के मुताबिक मंगलवार को जिले में 46 केस सामने आए। अब तक एक्टिव केस की संख्या 172 हो गई है। इनमें से 57 मरीजों को कोविड 19 हाॅस्पिटल में दाखिल किया गया है। कुछ लोग अपने बीमार परिजनों को इलाज के लिए बाहर ले गए हैं।

यह भी पढ़ें :  कोविड हाॅस्पिटल की व्यवस्था सुधरी, सुबह 9 बजे मिला मरीजों को नाश्ता... अब तक 187 हुए डिस्चार्ज, शुक्रवार को 16 संक्रमितों को मिली छुट्टी

बताया गया है कि तिमेड़ और तारलागुड़ा में निगरानी बढ़ा दी गई है। मंगलवार को एक जवान का परिवार तारलागुड़ा के रास्ते जिले में दाखिल हो रहा था। जांच में जवान की पत्नी को कोरोना पाॅजीटिव पाया गया।

Read More:

सीएमएचओ डाॅ बीआर पुजारी ने बताया कि बाहर से आने वाले हर व्यक्ति का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है और इन्हें चार दिनों तक क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। जिले में अलग अलग स्थानों पर क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें :  इन 18 जिलों में तेज हवा के साथ बिजली गिरने की चेतावनी… मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

इधर, बाॅर्डर पर 24 घंटे मेडिकल टीम तैनात की गई है। फोर्स को भी सतर्क रहने कहा गया है। चार दिनों से अंतरराज्यीय बस सेवा बंद कर दी गई है। जरूरी काम से बाहर गए लोग की महाराष्ट्र और तेलंगाना से जिले में दाखिल हो रहे हैं। ज्यादातर लोग शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए ही इन राज्यों की ओर जाते हैं।

Read More:

मंगलवार को बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी एवं कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने तारलागुड़ा एवं तिमेड़ का दौरा किया और आवश्यक निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें :  कोरोना रोकथाम: DMF मद से होगा काढ़ा वितरण, प्रभारी मंत्री ने दिए निर्देश

इधर, जिला मुख्यालय में सब्जी मार्केट को भी बंद कर दिया गया है। इससे लोगों का परेशानी हो रही है। बाजार में भीड़भाड़ को देखते ऐसा निर्णय लिया गया। लाॅक डाऊन के चलते सड़कों में दिनभर सन्नाटा रहता है। केवल मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप एवं गैस सिलेण्डर की एजेंसियां ही खुली हैं। सिलेण्डर की ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा भी दी जा रही है।