उत्तर पूर्व की हवाओं ने बढ़ा दी ठण्ड, अब फिर चढ़ेगा पारा

50

उत्तर पूर्व की हवाओं ने बढ़ा दी ठण्ड, अब फिर चढ़ेगा पारा

पंकज दाऊद @ बीजापुर। इस साल जनवरी मासांत और फरवरी के पहले पखवाड़े में अचानक ठण्ड बढ़ जाने का सबब उत्तर पूर्व भारत से आने वाली हवाएं थीं लेकिन एक-दो दिन में फिर से तापमान बढ़ने के आसार हैं।

कृषि विज्ञान केन्द्र के मौसम विज्ञानी भीरेन्द्र कुमार ने बताया कि षिमला और कष्मीर में अचानक हुई बर्फबारी के चलते हवाएं ठण्डी हो गईं और इन हवाओं को रूख छग की ओर भी था। इससे जनवरी मासांत और फरवरी के पहले पखवाड़े ठण्ड अचानक बढ़ गई। उन्होंने बताया कि इन हवाओं में नमी भी थी।

यह भी पढ़ें :  आरक्षक ने बीवी का कत्ल किया और फिर लापता बता ढूंढने लगा... 3 दिन बाद जंगल से शव बरामद

एक फरवरी को न्यूनतम तापमान 11.80, दो फरवरी को 9, तीन फरवरी को 8, चार फरवरी को 8.80, पांच फरवरी को 9, छह फरवरी को 10, सात फरवरी को 10.60, आठ फरवरी को 8.70, नौ फरवरी को 7.50, दस फरवरी को 9 एवं ग्यारह फरवरी को 9.80 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया।

वहीं अधिकतम तापमान एक फरवरी को 29.50, दो फरवरी को 29.80, तीन फरवरी को 30.80, चार फरवरी को 30.70, पांच फरवरी को 30.50, छह फरवरी को 29.20, सात फरवरी को 29.80, आठ फरवरी को 28.50, नौ फरवरी को 29.90, दस फरवरी को 30 एवं ग्यारह फरवरी को 31 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वैज्ञानिक भीरेन्द्र कुमार ने बताया कि आने वाले दिनों में तापमान में बढ़ोतरी होगी।

यह भी पढ़ें :  यह ASI पुलिसर्मियों के लिए बना रोल मॉडल, 48 किलो वजन घटाकर हुए फैट से फिट... कारनामा देख IG ने किया पुरस्कृत‚ तस्वीरें देख आप भी रह जाएंगे हैरान

ऑटोमेटिक वेदर सिस्टम

भीरेन्द्र कुमार ने बताया कि जल्द ही मौसम विज्ञान केन्द्र में ऑटोमेटिक वेदर सिस्टम (एडब्ल्यूएस) लगेगा। इससे आंकड़ों को मैन्यूअली रजिस्टर में दर्ज नहीं करना होगा। आंकड़े सीधे कंप्यूटर में आ जाएंगे। वर्षा, तापमान, आपेक्षिक आर्द्रता एवं सूर्य के प्रकाश की अवधि सीधे कंप्यूटर में रेकॉर्ड हो जाएगी।

उन्होंने बताया कि मेघदूत एप के जरिए किसानों को जिले में पांच दिनों तक के मौसम की जानकारी दी जा रही है। इसके साथ ही किसानी की समसामयिक सलाह भी दी जा रही है।

यह भी पढ़ें :  बाढ़ में फंसा था DRG जवान का शव, CRPF जवानों ने कंधा देकर नदी पार करवाया