गोण्डवाना कमेटी ने बाढ़ पीड़ितों की मदद की, जातिगत भावना से ऊपर उठकर दीगर समाज को भी दिए सामान

98

गोण्डवाना कमेटी ने बाढ़ पीड़ितों की मदद की, जातिगत भावना से ऊपर उठकर दीगर समाज को भी दिए सामान

पंकज दाऊद @ बीजापुर। गोण्डवाना समाज समन्वय कमेटी ने जातिगत भावना को हाशिए पर रख बाढ़ से प्रभावित सभी समाजों की मदद शुरू कर दी है। कमेटी ने गोण्ड ही नहीं बल्कि बाढ़ से पीड़ित धाकड़, राऊत एवं महार समाज के परिवारों की भी मदद की है।

भैरमगढ़ ब्लाॅक के माटवाड़ा एवं मिंगाचल में गोण्डवाना समन्वय समिति के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने कैम्प लगाकर प्रभावितों को किचन सेट का वितरण किया। मिंगाचल एवं माटवाड़ा के अलावा दरबा, जयवारम, कोण्डरोजी एवं अन्य गांव के बाढ़ प्रभावित लोगों को ये सामान दिए गए।

यह भी पढ़ें :  नगरनार NMDC स्टील प्लांट में लगी आग, फायर ब्रिगेड की मदद से आग पर काबू पाया गया

Read More: पुलिस लाइन में जवान की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में निकला कोरोना… जगदलपुर जाते वक्त रास्ते में हुई मौत

इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, समाज के संभागीय उपाध्यक्ष हरिकृष्ण कोरसा एवं ब्लाॅक अध्यक्ष आयतू तेलाम ने प्रभावितों को संबोधित करते कहा कि ये आपदा मानव निर्मित नहीं है बल्कि ये नैसर्गिक आपदा है। इसे रोकना किसी के बस की बात नहीं है।

बाढ़ से बेघर हो चुके लोगों की स्थिति पर गहरा दुख जताते वक्ताओं ने कहा कि जब भी मुसीबत आएगी, गोण्डवाना समाज आगे आकर मदद करेगा, चाहे कोई भी सरकार हो। वक्ताओं ने बताया कि समाज की ओर से प्रभावितों का सर्वे भी किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :  बीजापुर में नक्सलियों का खूनी खेल, पूर्व उपसरपंच समेत 2 लोगों को उतारा मौत के घाट

Read More: कोरोना के नाम पर किडनी निकाले जाने की अफवाह ! आदिवासियों ने निकाली रैली… CMHO और डाॅक्टरों को बदलने की मांग

समिति द्वारा मंगलवार को बाढ़ प्रभावित 47 परिवारों को किचन सेट दिए गए। इसमें खाना पकाने का बर्तन, पानी रखने का बर्तन, थाली, चम्मच, चटाई एवं अन्य सामान दिए गए।

इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य बुधराम कश्यप, ब्लाॅक उपाध्यक्ष शिव पूनेम, जिला सचिव सुशील हेमला, सदस्य बुधराम कोरसा, लक्ष्मण कड़ती, टीआर कुहरामी, महेश कोरसा, पाकलू तेलाम, टीएस नेताम, रामा ताती, धनेश कुंजाम, विनय उईके एवं अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  पहाड़ी पर बकरी चराने गई और लैण्डमाइन में फंस गई, IED ब्लास्ट में महिला हुई जख्मी