गोदावरी और इंद्रावती के किनारे तेलंगाना और छग सरकार करेगी ये काम, दोनों स्टेट के अफसरों ने तैयार की प्रोजेक्ट रिपोर्ट… जानिए, क्या है पूरी कवायद !

72

पंकज दाऊद @ बीजापुर। गोदावरी और उनकी सहायक नदियों शबरी तथा इंद्रावती में बाढ़ आपदा रोकने छग और तेलंगाना की सरकार अब साझा परियोजना तैयार कर रही है। इसका एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट जल्द ही केन्द्र को भेजा जाएगा।

परियोजना निर्माण समिति के नोडल अधिकारी एवं इंस्टीट्यूट ऑफ फारेस्ट बायोडायवर्सिटी, हैदराबाद के एपीसीसीएफ रत्नाकर चौधरी एव छग वन विभाग के सीएफ नाविद सुवाजुद्दीन की मौजूदगी में इस विषय पर यहां जिला पंचायत के सभागार में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया।

यह भी पढ़ें: थाईलैंड के मशहूर ‘ड्रैगन फ्रूट’ की खेती अब हो रही बस्तर के इस इलाके में…जानिए क्या है ‘ड्रैगन फ्रूट’ और क्यों खास है यह विदेशी फल

बाढ़ आपदा को रोकने नदी किनारे पौधरोपण, वन संवर्धन एवं जल संरचनाओं के विकास को इस परियोजना के तहत रखा गया है।

बताया गया है कि गोदावरी नदी के दोनों ओर पांच-पांच किलोमीटर तक ये काम किए जाने हैं जबकि शबरी और इंद्रावती के दोनों ओर दो-दो किलोमीटर तक नदी स्त्रोत का विकास किया जाएगा। ये चार चरणों में होगा। पहले नदी किनारे खाली पड़े इलाके में पौधरोपण किया जाएगा।

यह भी पढ़ें :  गुम होने लगी है मेंढकों की टर्रटर्राहट ! बस्तर में 7 और प्रजातियों का पता लगाया जा रहा

Read More :  जब कलेक्टर ने SP को दी पटखनी तो देखते रह गए लोग… कबड्‌डी के मैदान में दिखा IAS और IPS के बीच रोचक मुकाबला !

इसके अलावा कृषि वाली जगह पर किसानों की अनुमति पर फलदार पेड़ लगाए जाएंगे। नदी किनारे बसे कस्बा और नगर में भी पौधरोपण किया जाएगा। नदी किनारे पहले से बनी जल संरचनाओं को विकसित किया जाएगा। ये काम सिर्फ वन विभाग का ही नहीं होगा बल्कि इसमें कृषि, उद्यानिकी समेत दीगर विभाग भी शामिल होंगे।

बताया गया है कि पौधरोपण के लिए जगह का चिन्हांकन किया जाएगा और एक सप्ताह में प्रपत्र भेजा जाएगा। इस आधार पर केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय को परियोजना का खाका भेजा जाएगा।

कार्यशाला में कलेक्टर केडी कुंजाम, डीएफओ डीके साहू, इंद्रावती टाइगर रिजर्व के उप संचालक एनके शर्मा, एसडीओ सुनील राठौर, लक्ष्मण सिंह गायकवाड़, आईटीआर के सहायक संचालक आरएस वट्टी, दंतेवाड़ा एवं बीजापुर मण्डलों के अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  सुकमा में फंसे झारखंड के मजदूरों को 5 बसों में भेजा गया, आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

ख़बर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए….