चिटफंड कंपनियों में फंसे ग्रामीणों के लाखों रूपए, अभिकर्ता व उपभोक्ता संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

49

चिटफंड कंपनियों में फंसे ग्रामीणों के लाखों रूपए, अभिकर्ता व उपभोक्ता संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

के. शंकर @ सुकमा। छत्तीसगढ़ अभिकर्ता व उपभोक्ता संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है, जिसमें कथित चिटफंड कंपनियों में ग्रामीणों के रूपए फंसे होने की बात कहते हुए कार्रवाई की मांग की गई है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम लिखे ज्ञापन में कहा गया है कि भाजपा के शासनकाल में कई चिटफंड कंपनियों में गरीब, मजदूर, किसान व छोटे व्यापारियों का पैसा फंसा हुआ है। इस बारे में 2015 से संघ द्वारा शासन प्रशासन को आवेदन, ज्ञापन व धरना देकर पैसा वापसी हेतु लड़ाई लड़ी जा रही है।

यह भी पढ़ें :  मंत्री कवासी लखमा ने केरलापाल में धान खरीदी केंद्र का किया शुभारंभ, उत्साहित किसानों ने धान से तौला

Read More:

 

विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने चिटफंड कंपनियों में फंसे निवेशकों के पैसे वापस दिलाने की बात अपने घोषणा पत्र में कही थी। लेकिन कांग्रेस सरकार बनने के करीब दो साल बाद भी निवेशकों का पैसा वापस नहीं हुआ है, जिससे लोग भारी आर्थिक तंगी झेल रहे हैं। वहीं आक्रोश आत्महत्या जैसी घटनाओं की स्थिति भी बनी है।

यह भी पढ़ें :  मतदान के बीच नक्सली साजिश नाकाम, परचेली रोड़ पर जवानों ने IED किया बरामद, मौके पर किया गया डिफ्यूज