तेलंगाना के नक्सलियों ने बस्तर के युवाओं को अंधे युद्ध में झोंक दिया… SP कमलोचन कश्यप बोले, सुकून की जिंदगी जी रहे माइंड गेम खेलने वाले माओवादी लीडर

79

तेलंगाना के नक्सलियों ने बस्तर के युवाओं को अंधे युद्ध में झोंक दिया… SP कमलोचन कश्यप बोले, सुकून की जिंदगी जी रहे माइंड गेम खेलने वाले माओवादी लीडर

पंकज दाऊद @ बीजापुर। पुलिस कप्तान कमलोचन कश्यप ने बेबाकी से इस बात को कहा है कि बस्तर की तरक्की को थामने वाले और कोई नहीं बल्कि तेलंगाना में सुकून की जिंदगी जी रहे माओवादी लीडर हैं और उन्होंने ही बस्तर के युवाओं को इस अंधे युद्ध में झोंक दिया है।

– पामेड़ में नए कैम्प का निरीक्षण करते एसपी

पामेड़ कैम्प में पत्रकारों को अपने खास साक्षात्कार में एसपी कमलोचन कश्यप ने कहा कि बस्तर की तरक्की के रास्ते को बंद करने वाले तेलंगाना के नक्सली लीडर हैं और वे रिमोट कंट्रोल से बस्तर के कुछ युवाओं को संचालित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  MBBS डॉक्टर का सरकारी आवास में संदिग्ध अवस्था में मिला शव, जिला अस्पताल दंतेवाड़ा में थे पदस्थ

एसपी ने कहा कि कुछ हथियार थमा और एक वर्दी पहनाकर ही माओवादी लीडर बस्तर के युवाओं का माइंड वाष कर रहे हैं। हाल ही में कोरोना काल में स्कूल से घर गए युवा उनके पास चले गए और फिर ये भी पक्की खबर है कि युवा लौट आए।

ये इस बात की ओर इशारा है कि अब युवा उनके सिद्धांतों को नहीं मान रहे हैं और मेन स्ट्रीम में ही रहना चाहते हैं। इन स्कूली छात्रों को उनकी ट्रेनिंग पसंद नहीं आई। नक्सलियों से निपटने का एक ही उपाय है कि सामने आने पर रहम नहीं दिखाया जाए।

यह भी पढ़ें :  आखिर कौन थे वो, जो एनकाउंटर में मारे गए ? नक्सलियों ने किए जारी पर्चे, 22 को बंद का आह्वान

एसपी कमलोचन कश्यप ने कहा कि समर्पण बड़े नक्सली तभी करते हैं, जब पुलिसिया दबाव बढ़ जाता है। जब उनकी चूलें हिल जाती हैं तभी वे समर्पण को राजी होते हैं।

– उसूर के मारूड़वाका में मारा गया नक्सली

अभी दक्षिण बस्तर में तेलंगाना स्टेट कमेटी काम कर रही है और चंद्रन्ना उर्फ फुल्लेदी प्रसाद राव एवं हरिभूषण के अलावा गणेश उईके पामेड़ एरिया में इधर-उधर घूम रहे हैं। पुलिस के पास सबकी कुण्डली है। ये नेता ही हिड़मा को चला रहे हैं। इस तरह वे बस्तर के युवाओं को भटका रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  भूपेश सरकार की नाकामियों को बूथ स्तर तक ले जाएंगे कार्यकर्ता, भाजयुमो की बैठक में बनी रणनीति

एनकाउण्टर में एक नक्सली ढेर, हथियार बरामद… आईईडी के चपेट में आया ग्रामीण, बांस लेने गया था जंगल https://t.co/maBqJGYQeE

कट्टम सुदर्शन उर्फ आनंद भी इसी एरिया में भटक रहा है। बस्तर की फोर्स अब जमीनी लड़ाई पर उतर आई है। इसके लिए कनेक्टिविटी पर फोकस किया जा रहा है और नक्सली इसके घोर विरोधी हैं। सड़क बनने में वे ही रोड़ा लगा रहे हैं। उन्हें अंदरूनी इलाकों में रहने वाले लोगों से कोई सरोकार नहीं है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…


खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…