नक्सलियों के कब्जे में जवान, बेटी की भावुक अपील- नक्‍सली अंकल! प्‍लीज़ मेरे पापा को घर भेज दो… पत्नी ने PM मोदी से लगाई गुहार, अभिनंदन की तरह मेरे पति को भी वापस ले आईए

58

नक्सलियों के कब्जे में जवान, बेटी की भावुक अपील- नक्‍सली अंकल! प्‍लीज़ मेरे पापा को घर भेज दो… पत्नी ने PM मोदी से लगाई गुहार, अभिनंदन की तरह मेरे पति को भी वापस ले आईए

रायपुर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में शनिवार को हुई पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में 22 जवानों की शहादत हुई है। वहीं मुठभेड़ के बाद से लापता कोबरा का एक जवान नक्सलियों के कब्जे में है।

जम्मू कश्मीर निवासी जवान राकेश्‍वर सिंह मनहास नक्सलियों के कब्जे में सकुशल बताया जा रहा है। हालांकि, उसकी रिहाई को लेकर नक्सलियों की ओर से अब तक कोई पहल नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें :  सेल्फी से अटेंडेंस का मामला पकड़ने लगा तूल, महिला एवं बाल विकास विभाग की जांच पर उठे सवाल... इंक्वायरी कमेटी की मेंबर ने एकतरफा कार्रवाई का अंदेशा जताया
– जवान की बेटी ने की मार्मिक अपील

इस घटना के बाद से जवान के परिजन खासे चिंतित और परेशान हैं। जवान राकेश्‍वर सिंह मनहास की 5 साल की बेटी राघवी ने नक्‍सलियों से बेहद भावुक अपील की है। बेटी ने कहा, ‘पापा की परी पापा को बहुत मिस कर रही है। मैं अपने पापा से बहुत प्‍यार करती हूं। प्‍लीज़ नक्‍सल अंकल, मेरे पापा को घर भेज दो।’

Read More:

हमले से एक दिन पहले हुई बात

यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ में फिर बारिश की संभावना... 22 से 24 जनवरी तक कई स्थानों पर वर्षा होने के आसार, आकाशीय बिजली गिरने की भी आशंका... मौसम विभाग ने कहा !

इधर, जवान की पत्नी मीनू मनहास का रो रो कर बुरा हाल है। मीनू ने बताया कि उसकी अपने पति से शुक्रवार को बात हुई थी। उन्‍होंने कहा था कि वह अभी ऑपरेशन के लिए जा रहे हैं और शनिवार को लौटकर कॉल करेंगे। शनिवार को टीवी पर मुठभेड़ की खबर देखने के बाद पूरा परिवार उनकी कुशलता को लेकर परेशान है।

– जवान की पत्नी व मां

अपने पति के नक्सलियों के कब्जे में होने की सूचना मिलने के बाद मीनू मनहास ने पीएम नरेंद्र मोदी से रिहाई की गुहार लगाई है। उन्होंने पीएम से अपील करते हुए कहा कि, ‘मेरे पति को सुरक्षित वापस ले आओ, जैसे अभिनंदन को पाकिस्तान से वापस लाया था वैसे ही मेरे पति को भी वापस ला दो।’

यह भी पढ़ें :  CRPF जवान ने सर्विस राइफल से खुद को मारी गोली, गंभीर हालत में रायपुर रेफर
– जवान राकेश्‍वर सिंह मनहास

आपको बता दें कि शनिवार को बीजापुर में हुए इस साल के सबसे बड़े नक्सली हमले में सुरक्षा बलों के 22 जवान शहीद हुए हैं। जबकि एक जवान मुठभेड़ के बाद से लापता हो गया था, जिसके नक्सलियों के कब्जे में होने की सूचना मिली है। इस मुठभेड़ में घायल 31 जवानों का इलाज चल रहा है।

Read More: