भूपेश सरकार पर गरजे गागड़ा, बोले ‘‘छल से पाई है सत्ता’’… युवाओं, किसानों, बेरोजगारों और कर्मचारियों को भ्रम में डाल रखा है कांग्रेसियों ने

45

भूपेश सरकार पर गरजे गागड़ा, बोले ‘‘छल से पाई है सत्ता’’ युवाओं, किसानों, बेरोजगारों और कर्मचारियों को भ्रम में डाल रखा है कांग्रेसियों ने

पंकज दाऊद @ बीजापुर। पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने भूपेश सरकार पर तीखे जुबानी तीर चलाते आरोप लगाया कि कांग्रेस ने वादे के मामले में किसी को भी नहीं बख्षा, चाहे वे किसान, मजदूर, युवा, बेरोजगार या फिर कर्मचारी हों। इन सबसे झूठे चुनावी वादे और छल कर कांग्रेस ने सत्ता पाई है।

यहां भाजपा के एक दिनी धरना और प्रर्दशन के लिए आए पूर्व वन मंत्री महेेश गागड़ा ने कहा कि कांग्रेस नए कृषि कानून को लेकर किसानों को भ्रम में डाल रही है। बेरोजगारों को 2500 रूपए भत्ता देने का वादा किया गया था लेकिन दो साल में एक भी बेरोजगार को भत्ता नहीं मिला।

गागड़ा ने चुटकी लेते बेरोजगारों से कहा कि वे कांग्रेसियों से दो साल के साठ हजार रूपए मांगे। पुलिस के जवानों, अनियमित कर्मियों एवं रेग्यूलर कर्मियों को भी धोखा दिया गयां। एरियर्स दिए जाने का वादा भी खोखला निकला। अनियमित कर्मी ठगे के ठगे से रह गए।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने ठेकेदार को उतारा मौत के घाट, पोकलेन समेत 3 वाहनों में लगाई आग

हड़ताल पर गए पंचायत सचिवों की बात सुनी नहीं जा रही है। स्मार्ट कार्ड बंद कर दिया गया है और इसके उलट शराब की कोचियागिरी ष्षुरू हो गई है। इसमें कांग्रेसी गिरोह बनाकर काम कर रहे हैं।

एक क्विंटल में 70 रूपए का नुकसान

सण्डे मार्केट स्थल पर दिए गए धरने में आए किसानों को संबोधित करते वक्ताओं ने कहा कि एक क्विंटल में किसान को सत्तर से अस्सी रूपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। बारदाने वे तीन से चालीस रूपए में खरीद रहे हैं।

Read More:

किसानों से भूपेश सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान करते भाजपा नेताओं ने कहा कि रमन सरकार ने किसानों से एक-एक दाने की खरीदी की थी। भाजपा के ष्षासन काल में किसानों को कोई परेषानी नहीं हुई जबकि अभी खरीदी केन्द्रों में अव्यवस्था पसरी हुई है।

यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ सहित इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

पुराने कामों का भूमिपूजन !

सीएम प्रवास को फ्लाॅप बताते भाजपाइयों ने कहा कि जिले में जो 328 करोड़ रूपए के लोकार्पण एवं भूमिपूजन किए, वो भाजपा सरकार के समय के हैं। चुनाव से पहले पांच करोड़ रूपए नगरपालिका को मिले थे लेकिन चुनाव के बाद इसे लौटा दिया गया।

पहाड़ी पर रंगरोगन और तामझाम सीएम आने से पहले किया गया। एक ओर तो यहां स्थानीय लोगों की आस्था पर चोट किया गया गया, दूसरी ओर सीएम को भी ये बताने की कोशिश की गई कि यहां विकास के काम हो रहे हैं। ये काम फर्जी विकास के हैं।

मैदान में मौजूदगी जरूरी नहीं, काम जरूरी

वक्ताओं ने कहा कि हमेशा कांग्रेसी यही आरोप लगाया करते थे कि महेश गागड़ा मंत्री बन जाने के बाद क्षेत्र में नहीं रहते हैं। वक्ताओं ने कहा कि क्षेत्र में रहना जरूरी नहीं है बल्कि काम जरूरी है। महेश गागड़ा ने दस साल में जिले के विकास के लिए ऐतिहासिक काम किए। इस पर कांग्रेसियों ने कभी कुछ नहीं कहा।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने जवान पर किया जानलेवा हमला... जख्मी हालत में सड़क पर पड़ा रहा जवान, हालात नाजुक

Read More:

जिला अस्पताल अब पूरे राज्य में आदर्श है। खेल अकादमी की बात हो या फिर स्वास्थ्य सेवा या फिर विद्यालयों की स्थापना हो। इस पर आज भी भाजपाई गर्व करते हैं। सड़कों का अच्छा नेटवर्क भी रमन सरकार के कार्यकाल में बना।

धरने में जिला भाजपा अध्यक्ष श्रीनिवास राव मुदलियार, पूर्व अध्यक्ष जी वेंकट, सुखलाल पुजारी, संजू लुंकड़, घासीराम नाग, सत्येन्द्र ठाकुर, तिरूपति कटला, इकबाल खान, ओंकार तारम, जागर लक्ष्मैया एवं बड़ी संख्या में भाजपाई एवं किसान मौजूद थे। भाजयुमो ने किसानों की समस्याओं को लेकर बाइक रैली भी निकाली।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…