मण्डी बंद नहीं होंगी और एमएसपी भी मिलेगा, गागड़ा बोले ‘‘ कांग्रेस किसानों में भ्रम फैला रही ’’

51

मण्डी बंद नहीं होंगी और एमएसपी भी मिलेगा, गागड़ा बोले ‘‘ कांग्रेस किसानों में भ्रम फैला रही ’’

पंकज दाऊद @ बीजापुर। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने नए कृषि कानूनों को लेकर कहा कि इससे मण्डी बंद नहीं होगी और किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य भी मिलता रहेगा। पूर्व मंत्री ने कहा कि किसानों को कांग्रेस भ्रम में डाल रही है।

पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास राव मुदलियार एवं प्रदेश प्रतिनिधि सुखलाल पुजारी ने संयुक्त पत्रवार्ता में कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में बजट केन्द्र ने 137 फीसदी बढ़ा दिया है। इससे कोरोना एवं अन्य रोगों से लड़ने के अलावा मेडिकल क्षेत्र की अधोरचना का विकास होगा।

यह भी पढ़ें :  'मांई दंतेश्वरी' के नाम से पहचाना जाएगा जगदलपुर का एयरपोर्ट, बस्तर के जनप्रतिनिधियों की मांग पर CM ने दी सहमति

आयुष्मान भारत के लिए 6400 करोड़ रूपए रखे गए हैं। आयुष्मान भारत को लेकर छग सरकार संजीदा नहीं है। इससे लोगों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि जिले के लोगों को भारी भरकम राशि खर्च कर इलाज के लिए हैदराबाद और वारंगल जाना पड़ रहा है। राज्य सरकार को इस पर विचार करना चाहिए।

पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने कहा कि कांग्रेस नए एग्रीकल्चर बिल को लेकर किसानों को भ्रमित करने में लगी है। कोई मण्डी बंद नहीं होगी। सूचीबद्ध उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलता रहेगा। केन्द्र ने इसके लिए भी धनराषि का प्रावधान किया है।

यह भी पढ़ें :  तेंदूपत्ता संग्राहकों के प्रतिभाशाली बच्चों को प्रदान की गई प्रोत्साहन राशि

अभी के बजट में किसानों को ज्यादा सुविधा दी गई है और लोन भी किसानों को ज्यादा मिलेगा। बस्तर सरीखे इलाकों के लिए विकास का ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है। रोजगार, स्वास्थ्य एवं षिक्षा के क्षेत्र के लिए अच्छा बजट रखा गया है। आदिवासी बहुल इलाकों में एकलव्य विद्यालयों की संख्या बढ़ाई जाएगी और अजा व अजजा की छात्रवृत्ति भी।

बस्तर के विकास को ध्यान में रखते रायपुर विशाखापटनम तक सिक्स लेन सड़क का खाका तैयार है। इससे बस्तर के विकास में तेजी आएगी। विशाखापटनम एक टूरिस्ट प्लेस है और यहां के लोग हमेशा घूमने, इलाज एवं शिक्षा के लिए विशाखापटनम जाते हैं।

यह भी पढ़ें :  चित्रकोट उपचुनाव की तारीखों का ऐलान, 21 अक्टूबर को होगी वोटिंग, 24 को घोषित होगा रिजल्ट

सड़क बनने से तीरथगढ़, चित्रकोट एवं अन्य दर्षनीय स्थलों की ओर भी सीमांध्र से लोगों को आना बढ़ेगा। इससे बस्तर के लोगों को टूरिस्म से रोजगार मिल सकेगा।