मलेरिया मुक्त होगा सुकमा, कलेक्टर विनीत नंदनवार ने प्रचार रथ को दिखाई हरी झंडी

54

मलेरिया मुक्त होगा सुकमा, कलेक्टर विनीत नंदनवार ने प्रचार रथ को दिखाई हरी झंडी

के. शंकर @ सुकमा। मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के तहत प्रदेश के सभी जिलों में प्रचार रथ के माध्यम से आमजनों को मलेरिया से बचाव हेतु जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है।

इसी कड़ी में कलेक्टर विनीत नंदनवार ने मंगलवार को जिला कार्यालय से मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ प्रचार रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रचार रथ के माध्यम से सुकमा जिले वासियों को मलेरिया से बचाव हेतु किए जाने वाले उपायों और चिकित्सकीय परामर्श संबंधी जानकारी उपलब्ध की जाएगी।

यह भी पढ़ें :  उफ! ये गर्मी मार ही डालेेगी... अप्रैल की शुरूआत में ही हाल बेहाल, पारा 40 डिग्री के करीब पहुंचा

Read More: 

 

15 दिसंबर 2020 से 30 जनवरी 2021 तक इस प्रचार माध्यम से लोगों को मलेरिया की रोकथाम हेतु अपने घरों की खिड़की दरवाजों पर जाली का उपयोग, सोते समय मच्छरदानी का उपयोग, किसी भी जगह पानी इक्कठा ना होने देना, घर तथा परिसर में कीटनाशक का छिड़काव आदि जानकारी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें :  बीजापुर में नक्सलियों का खूनी खेल, पूर्व उपसरपंच समेत 2 लोगों को उतारा मौत के घाट

गौरतलब है कि सुकमा जिले में मलेरिया का खतरा बना रहता है। गर्भवती महिलाओं सहित बच्चों और बूढ़ों में इसका खतरा ज्यादा होता है। मलेरिया के लक्षणों में बार बार ठंड के साथ बुखार आना, बदन दर्द, जोड़ों में दर्द, भूख ना लगना एवं उल्टी होना शामिल हैं।

जिला प्रशासन सुकमा एवं स्वास्थ्य विभाग ऐसे किसी भी लक्षण को अनदेखा ना कर तुरंत चिकित्सीय जांच हेतु आमजन से अपील करता है ताकि मलेरिया मुक्त सुकमा का संकल्प साकार किया जा सके।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  तालाब में डूबने से 2 मासूमों की मौत, खेलते वक्त हुआ हादसा...मृत बच्चे चचेरे भाई-बहन


खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…