सुकमा पुलिस की बड़ी कार्रवाई: 7 साल से फरार रेप का आरोपी बिहार से गिरफ्तार… बलात्कार व अपहरण के 2 अन्य आरोपी हैदराबाद से पकड़ाए

52
Three accused including Superintendent of Potacabin were brought to the police station

सुकमा पुलिस की बड़ी कार्रवाई: 7 साल से फरार रेप का आरोपी बिहार से गिरफ्तार… बलात्कार व अपहरण के 2 अन्य आरोपी हैदराबाद से पकड़ाए

के. शंकर @ सुकमा। नक्सल मोर्चे पर माओवादियों से लोहा ले रही सुकमा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बलात्कार व अपहरण के 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की टीम ने बिहार व हैदराबाद में दबिश देकर इन आरोपियों को धर दबोचा।

 

पुलिस के हत्थे चढ़े 3 आरोपियों में से एक अभियुक्त रेप की घटना को अंजाम देने के बाद पिछले 7 सालों से फरार था। इसे बिहार से पकड़ा गया। बता दें कि सुकमा पुलिस को उक्त कामयाबी ‘मुत्ते रक्षतुंग’ (अस्मिता सम्मान) अभियान के तहत मिली।

दरअसल, सुकमा एसपी केएल ध्रुव के निर्देश पर पुलिस की अलग अलग टीमों ने महिला संबंधी अपराधों की विवेचना में तेजी लाते हुए फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये बिहार, झारखण्ड, उड़ीसा, तेलंगाना व आंध्रप्रदेश में दबिश दी और लंबे अरसे से फरार आरोपियों को गिरफ्तार कर सुकमा लाया गया।

यह भी पढ़ें :  मुठभेड़ में मारा गया 5 लाख का इनामी नक्सली‚ शव समेत पिस्टल बरामद

केस— 1

थाना केरलापाल में वर्ष 2013 में दर्ज बलात्कार के प्रकरण के फरार आरोपी अमजद खान को पुलिस ने बिहार के ग्राम हमजापुर शेरघाटी से गिरफ्तार किया। आरोपी घटना के बाद से फरार था और परिजनों द्वारा उसके पागल होने और कहीं चले जाने की बात कहकर लोगों को लगातार गुमराह कर रहे थे।

मामले की जांच के दौरान केरलापाल टीआई शैलेन्द्र नाग को पता चला कि आरोपी अमजद खान बिहार में रह रहा है। इस इनपुट के बाद एएसआई संदीप सिंह थाना दोरनापाल के नेतृत्व में पुलिस की टीम बिहार भेजी गई, जिसने वहां कैम्प कर आरोपी को भनक लगने से पहले ही उसे दबोच लिया।हिरासत में लेने के बाद आरोपी को बिहार में मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत कर ट्रांजिट रिमांड में छत्तीसगढ़ लाया गया है।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने RSS कार्यकर्ता को उतारा मौत के घाट...मुखबिरी के शक में दिया वारदात को अंजाम

केस— 2

थाना छिंदगढ़ में वर्ष 2020 में दर्ज बलात्कार मामले के फरार आरोपी धनंजय खरवार निवासी जिला गढ़वा, झारखण्ड को सायबर सेल की मदद से हैदराबाद तेलंगाना से गिरफ्तार किया गया। आरोपी की धरपकड़ के लिए पुलिस की टीम ने तेलंगाना व आंध्रप्रदेश में कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन आरोपी लगातार अपना स्थान बदलता रहा।

 

आखिरकार एएसआई निसार नियाजी ने अपनी टीम के साथ हैदराबाद के सघन क्षेत्र में आरोपी की उपस्थिति को चिन्हित करते हुए कार्रवाई जारी रखी और अंततः टीम द्वारा उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया।

केस— 3

थाना गादीरास के वर्ष 2020 में अपहरण व शीलभंग के प्रकरण के फरार आरोपी राकेश वेट्टी के ओडिसा में छुपे होने की सूचना मिलने पर निरीक्षक रितेश यादव के नेतृत्व में पुलिस की टीम रवाना की गई। ओड़िसा पहुंचने पर इस टीम को पता चला कि आरोपी यहां से फरार होकर तेलंगाना या आंध्रप्रदेश मे कहीं छुपा हुआ है।

यह भी पढ़ें :  वन विभाग में बड़ा फेरबदल: 23 IFS अफसरों का हुआ तबादला, सरकार ने जारी की ट्रांसफर लिस्ट...देखिए पूरी सूची

Read More:

 

इस सूचना के बाद निरीक्षक रितेश यादव की टीम ने तेलंगाना व आंध्रप्रेदश में आरोपी के छुपने के सभी संभावित जगहों पर दबिश दी। अंततः आरोपी राकेश वेट्टी को टीम ने हैदराबाद में ही धर दबोचा। उक्त सभी प्रकरणों में सुकमा पुलिस द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार कर वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…


खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…