शबरी नदी में बाढ़, सुकमा के 2 दर्जन गांवों का मुख्यालय से संपर्क टूटा… NH 30 हुआ जाम, ओड़िशा मार्ग भी बंद

103

शबरी नदी में बाढ़, सुकमा के 2 दर्जन गांवों का मुख्यालय से संपर्क टूटा… NH 30 हुआ जाम, ओड़िशा मार्ग भी बंद

के. शंकर @ सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में एक बार फिर बाढ़ के हालात निर्मित हो गए हैं। लगातार हो रही बारिश के चलते शबरी नदी उफान पर आ गई है। बाढ़ की वजह से सुकमा जिला टापू में तब्दील हो गया है।

भारी बारिश से झापरा पुल पूरी तरह डूब चुका है, जिसके चलते सुकमा जिले के एक दर्जन पंचायतों का मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। वहीं ओड़िशा की ओर वाहनों की आवाजाही भी बंद हो गई है।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा में बड़ी नक्सली वारदात, NMDC खदान में लगे 9 वाहनों को किया आग के हवाले

जानकारी के मुताबिक, गुरूवार की सुबह 8 बजे शबरी का जलस्तर बढ़कर 8.50 मीटर हो चुका था। वहीं अभी भी लगातार बारिश हो रही है। ऐसे में जलस्तर के और बढ़ने की आशंका है।

इधर, बोदागुड़ा के पास एनएच 30 पर जाम की स्थिति बन गई है। बाढ़ की वजह से हाईवे पर आवाजाही बंद है और मौके पर कई वाहन फंसे हुए हैं। दुब्बाटोटा के पास भी एनएच 30 पर नदी का पानी चढ़ गया है।

यह भी पढ़ें :  7 CRPF जवानों की हत्या में शामिल नक्सली गिरफ्तार, मैलावाड़ा ब्लॉस्ट की घटना में था शामिल

Read More:

 

गोरली नदी भी उफान पर है। कांजीपानी का ब्लाक मुख्यालय छिंदगढ़ से संपर्क टूट गया है। उधर, गोदावरी नदी का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में कोंटा ब्लाक में भी बाढ़ की आशंका बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें :  CM ने दी बीजापुर जिले को 96 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात... अब घर पर ही मिलेगा कास्ट सर्टिफिकेट, इन्द्रावती में चलेगा मोटर बोट

बता दें कि बीते करीब एक सप्ताह से जिले में लगातार बारिश हो रही है। पिछले तीन दिनों में दो बार बाढ़ के हालात बन गए हैं, जिससे क्षेत्रवासी हलाकान हैं।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…