कॉलेज के प्रिंसिपल ने लगाई थी फांसी… 3 प्रोफेसर गिरफ्तार, जेल भेजे गए

1614

कॉलेज के प्रिंसिपल ने लगाई थी फांसी… 3 प्रोफेसर गिरफ्तार, जेल भेजे गए

रायपुर @ खबर बस्तर। भिलाई के नंदिनी शासकीय महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य की खुदकुशी मामले में पुलिस ने कॉलेज के ही 3 प्रोफेसरों को गिरफ्तार किया है। तीनों प्रोफेसरों पर प्रिंसिपल को प्रताड़ित करने का आरोप है। गिरफ्तारी के बाद आरोपियों को जेल भेजा गया है।

बता दें कि नंदिनी शासकीय महाविद्यालय के तीन प्रोफेसर्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तीनों पर शासकीय महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ भुवनेश्वर नायक को प्रताड़ित कर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप है।

यह भी पढ़ें :  CAF कैम्प में नक्सलियों ने किया हमला, ड्यूटी में तैनात एक जवान शहीद

पुलिस ने आरोपी प्रोफेसर्स के खिलाफ धारा 306, 34 के तहत मामला दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। नंदिनी शासकीय महाविद्यालय के प्रिंसिपल डॉ. भुवनेश्वर की आत्महत्या के चार महीने बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

नंदिनी टीआई एसएन सिंह ने बताया कि 28 अक्टूबर 2021 की सुबह प्रभारी प्राचार्य डॉ भुवनेश्वर नायक का शव कॉलेज के एक पुराने कमरे में फंदे से लटका मिला था। नंदिनी पुलिस ने अपनी पड़ताल के दौरान घटना स्थल से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया था।

यह भी पढ़ें :  जिले में बढ़ने लगी है मजदूरों की फौज, साढ़े 16 हजार श्रमिकों का हो गया है रजिस्ट्रेशन

पुलिस ने जांच में पाया कि प्रभारी प्राचार्य डॉ भुवनेश्वर नायक कॉलेज के तीन प्रोफेसर की प्रताड़ना से काफी परेशान थे। इसी के चलते वे खुदकुशी जैसा खौफनाक कदम उठाने को मजबूर हुए।

सुसाइड नोट ने खोला राज

पुलिस ने राइटिंग एक्सपर्ट से सुसाइड नोट के लिखावट की जांच कराई। जांच में पाया गया कि सुसाइड नोट की राइटिंग प्रभारी प्राचार्य डॉ. भुवनेश्वर की ही थी। उन्होंने ही आत्महत्या से पहले सुसाइड नोट में कॉलेज के तीन प्रोफेसरों पर प्रता​ड़ना की बात लिखी थी।

यह भी पढ़ें :  मियाद पूरी होने के 4 साल बाद भी नहीं बनी सड़क... 87 लाख रूपए का भुगतान, होली से पहले मिट्टी का खेल

पुलिस ने सोमवार को प्रोफेसर डॉ. प्रशांत कन्नोजे (54वर्ष) निवासी थाना बसंतपुर जिला राजनांदगांव, प्रोफेसर ढालेश कुमार पटेल (45वर्ष) निवासी नंदिनी और प्रोफेसर प्रमेन्द्र कुमार उपाध्याय (51वर्ष) निवासी समता कालोनी रायपुर को गिरफ्तार किया है। सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।