जावंगा में 300 बिस्तरों का कोविड केयर सेंटर हो रहा तैयार‚ 100 बिस्तरों में आक्सीजन की है सुविधा

47

जावंगा में 300 बिस्तरों का कोविड केयर सेंटर हो रहा तैयार‚ 100 बिस्तरों में आक्सीजन की है सुविधा

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। देश-प्रदेश में कोरोना महामारी के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए जिले में इसकी रोकथाम के लिए युद्धस्तर पर प्रयास जारी हैं। इसी कड़ी में जिला प्रशासन द्वारा जावंगा में 300 बिस्तर का कोविड केयर सेंटर तैयार किया जा रहा है‚ ताकि जरूरत पड़ने पर कोरोना पीडि़त मरीजों को यहां भर्ती कराया जा सके।

बता दें कि जावंगा में संचालित 500 सीटर कन्या शिक्षा परिसर में यह कोविड केयर सेंटर तैयार किया जा रहा है। कलेक्टर दीपक सोनी के निर्देश पर जिले में कोरोना मरीजों के उपचार के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं को बेहतर करने के लिए जावंगा में यह व्यवस्था प्रारंभ की जा रही है।

यह भी पढ़ें :  इन्द्रावती नदी में डूबने से 20 वर्षीय युवक की मौत... मृतक BJP नेता का पोता, परिजनों में शोक की लहर

read more

 

सिविल सर्जन डॉ संजय बघेल ने बताया कि यहाँ ऑक्सीजन युक्त 100 बिस्तर की व्यवस्था है। मरीजों के भोजन एवं सुरक्षा की व्यवस्था ट्राइबल विभाग और पुलिस विभाग के सहयोग से प्रदान की जा रही है। कोरोना की पिछली लहर में यहां क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था‚ जिसे इस बार कोविड केयर सेंटर में तब्दील किया जा रहा है।

कोविड केयर सेंटर में महिलाओं एवं पुरुष के अलग–अलग वार्ड बनाए गए हैं। महिलाओं के वार्ड को छोड़कर शेष समस्त कमरों में सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है। मेडिकल एवं अन्य स्टॉफ के लिए अलग रूम, अटैच वॉशरूम एवं पेयजल की व्यवस्था भी उपलब्ध है। वर्तमान में अभी इसे 300 बिस्तरों का बनाया गया है जरूरत पड़ने पर बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

यह भी पढ़ें :  45 काॅमन मैना और 3 कौवों की मौत, सेंपल पुणे भेजे जाएंगे... जिले में मुर्गी और अण्डों की नो एंट्री, कलेक्टर ने जारी किया प्रतिबंधात्मक फरमान 

100 बिस्तर कोविड अस्पताल भी

जिले के गीदम में 100 बिस्तरों का डेडीकेटेड कोविड अस्पताल भी संचालित है‚ जिसमें 70 जनरल बैड, 20 एचडीयू बैड और 10 आईसीयू बैड हैं। जिले के पातररास कन्या शिक्षा परिसर को भी कोविड केयर सेंटर के रूप में बदला जा रहा है। जो जल्द ही तैयार हो जाएगा।

read more

मेडिकल ऑक्सीजन कंट्रोल रूम स्थापित

कलेक्टर दीपक सोनी ने जिले के कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में ऑक्सीजन के सुलभ वितरण के लिए जिला स्तरीय मेडिकल आक्सीजन कंट्रोल रूम की स्थापना की है। डिप्टी कलेक्टर प्रीति दुर्गम को नोडल अधिकारी बनाया गया है। समिति ऑक्सीजन के वितरण व परिवहन पर निगरानी रखेगी।

यह भी पढ़ें :  कांकेर में पदस्थ सहायक आरक्षक 4 दिन से लापता, नक्सल प्रभावित इलाके में मिली बाइक

68 हजार 624 लोगों ने लगवाया टीका

जिले में अब तक 68 हजार 624 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है। जिले में 12 हजार 89 नागरिकों को कोरोना टीके का दोनों डोज लग चुका है। 45 वर्ष से अधिक उम्र के 43 हजार 975 नागरिकों यानी 64 प्रतिशत ने पहले डोज का टीका लगवा लिया है। 5283 स्वास्थ्य कर्मी 81 प्रतिशत एवं 15 हजार 226 फ्रंट लाईन वर्कर 88 प्रतिशत का टीकाकरण हो चुका है।