IED ब्लास्ट में शहीद हुए थे CRPF डिप्टी कमांडेण्ट, घटना में शामिल 5 नक्सली गिरफ्तार

20

IED ब्लास्ट में शहीद हुए थे CRPF डिप्टी कमांडेण्ट, घटना में शामिल 5 नक्सली गिरफ्तार

के. शंकर @ सुकमा। छत्तीसगढ़ की सुकमा पुलिस ने नक्सल ऑपरेशन में शनिवार को बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए 5 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए माओवादी आईईडी ब्लास्ट की घटना में शामिल थे‚ जिसमें सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेण्ट शहीद हुए थे।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार‚ नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर किस्टाराम थाने व वेलकनगुड़ा कैम्प से डीआरजी‚ एसटीएफ‚ सीआरपीएफ 212 बटालियन और कोबरा 208 वाहिनी के जवान ज्वाइंट ऑपरेशन पर निकले थे। इसी दौरान कांसाराम के जंगलों में 3 संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को देखकर भागने लगे।

Read More:

जंगल में जवानों को देखकर भागने व छुपने का प्रयास कर रहे 3 आरोपियों को फोर्स ने घेरांबदी कर पकड़ा। पूछताछ करने पर इन्होंने अपना नाम क्रमशः कोमराम लच्छू पिता कोमराम रामकृष्ण (जनमिलिशिया सदस्य)‚ सोढ़ी गंगा पिता सोढ़ी हुर्रा (जनमिलिशिया सदस्य) और माड़वी देवा पिता माड़वी पोज्जा (जनमिलिशिया सदस्य) तीनों निवासी आमापेंटा थाना किष्टाराम बताया।

यह भी पढ़ें :  मंत्री कवासी लखमा ने केरलापाल में धान खरीदी केंद्र का किया शुभारंभ, उत्साहित किसानों ने धान से तौला

तीनों नक्सल आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ करने पर सोढ़ी गंगा ने बताया कि उसने अपने दो अन्य साथियों माड़वी गंगा पिता माड़वी कोसा व माड़वी दुधवा उर्फ राकेश पिता माड़वी बुज्जा को तिंगनपल्ली के पास पुलिस की रेकी करने के लिए भेजा है। वहीं कांसाराम के जंगल में महुआ पेड़ के पास विस्फोटक पदार्थ छुपा कर रखा है।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  छुट्टी में घर लौटा SI लापता‚ नक्सलियों द्वारा अपहरण की आशंका... जगदलपुर में पदस्थ सब इंस्पेक्टर डेढ़ महीने से ड्यूटी से नदारद था‚ दिमागी हालत भी ठीक नहीं

सुरक्षा बल के जवानों ने माड़वी गंगा की निशानदेही पर दो अन्य नक्सल आरोपियों को गिरफ्तार करने के अलावा कांसाराम के जंगल से कोर्डेक्स वायर‚ जिलेटिन राड‚ इलेक्ट्रिक डेटोनेटर‚ आईईडी कंटेनर‚ कुकर टिफिन‚ बिजली वायर‚ बैटरी सेल बरामद किया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने 13 दिसंबर 2020 को आईईडी प्लांट करने व इसे ब्लास्ट करने की बात कबूली है।

CRPF कमांडेंट की इलाज के दौरान हुई थी मौत

बता दें कि किस्टाराम क्षेत्र में सीआरपीएफ कोबरा 208 बटालियन के जवान सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान जवानों ने नक्सलियों द्वारा लगाए आईईडी बम को ढूंढ निकाला। IED को मौके पर ही निष्क्रिय किया जा रहा था तभी अचानक बम ब्लास्ट हो गया। जिसकी जद में आकर सीआरपीएफ कोबरा 208 बटालियन के डिप्टी कमांडेंट विकास कुमार और उनके दो सहयोगी घायल हो गए थे।

यह भी पढ़ें :  स्कूलों की छुट्टी का ऐलान... छत्तीसगढ़ में इस दिन से होगी गर्मी की छुट्टी, आदेश जारी

घटना के फौरन बाद गंभीर रूप से जख्मी डिप्टी कमांडेंट को कैम्प में लाकर प्राथमिक उपचार किया गया, फिर हेलीकॉप्टर के जरिये उन्हें रायपुर ​रेफर किया गया था। वहां एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान दूसरे दिन सुबह CRPF अधिकारी की सांसें थम गई।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…