भीमा के 53 मवेशियों का पता नहीं, 30 का ही हुआ पोस्टमार्टम… चिंतावागु में डूब गए थे गाय-बैल

28

भीमा के 53 मवेशियों का पता नहीं, 30 का ही हुआ पोस्टमार्टम… चिंतावागु में डूब गए थे गाय-बैल

पंकज दाऊद @ बीजापुर। उसूर ब्लाॅक की मुरकीनार पंचायत के पंगनपाल में चार दिन पहले चिंतावागु नदी में डूब गए मिच्चा भीमा के 53 मवेशियों का अब तक पता नहीं चला है। नदी से निकाले गए 30 मवेशियों का पोस्टमार्टम किया गया है।

सूत्रों की मानें तो जिले में करीब 115 मवेशी बाढ़ में डूब गए। इनमें से 38 मवेशियों के शव बरामद किए गए हैं। उसूर ब्लाॅक के पुसगुड़ी में भी किसानों के 22 मवेशियों के डूबने की खबर है और इनमें से आठ बाॅडी रिकवर हो गई है। ये मवेशी आठ किसानों के बताए गए हैं।

यह भी पढ़ें :  ग्रामीण की हत्या व अपहरण में शामिल नक्सली गिरफ्तार, मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने की कार्रवाई

Read More:

 

मिच्चा भीमा के 30 मवेशियों का पोस्टमार्टम किया गया। इनकी मौत का सबब ‘ड्यू टू ड्राउनिंग’ बताया गया है। इनके पेट और फेफड़ों में पानी भरा जाना पाया गया। बताया गया है कि भीमा ने सभी मवेशियों को एक ही रस्सी से बांध रखा था।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस विधायक ने प्रचार के आखिरी दिन झोंकी पूरी उर्जा, जानिए वोटर्स से क्यों कहा- 'एक वार्ड में होंगे दो पार्षद'
– किसान मिच्चा भीमा

इधर, भारी बारिश के चलते सभी नदी नाले उफान पर हैं और कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने नदी किनारे बसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर चले जाने की सलाह दी है। मवेशियों को भी ऊंचे और सुरक्षित स्थानों पर रखने कहा गया है। कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने नदी नालों के तेज बहाव को देखते डूबान में आए पुल को पार ना करने की भी सलाह दी है।

Read More:

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  दो इनामी माओवादियों ने नक्सलवाद से मुंह मोड़ा, एसपी के समक्ष किया सरेंडर