बस्तर-उड़ीसा बार्डर पर हुई मुठभेड़ में 7 नक्सली ढेर, हथियार व विस्फोटक बरामद… एसटीएफ, डीआरजी व डीएफ के ज्वाइंट ऑपरेशन में मिली कामयाबी

46

जगदलपुर @ खबर बस्तर। नक्सली शहीद सप्ताह के ठीक एक दिन पहले बस्तर में सुरक्षा बलों ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। शनिवार की शाम छत्तीसगढ़ के जगदलपुर जिले में हुई पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में 7 माओवादी मारे गए, जिनकी शिनाख्त की जा रही है।

घटनास्थल से पुलिस पार्टी ने नक्सलियों के शव समेत हथियार व विस्फोटक बरामद किया है। वहीं इस मुठभेड़ में पुलिस को और भी 5-6 नक्सलियों के मारे जाने के प्रमाण मिले हैं।

बस्तर आईजी विवेकानंद सिंहा ने बताया कि सूचना मिली थी कि उड़ीसा सीमा से लगे ग्राम तिरिया के जंगल में शहीद सप्ताह में बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में काफी संख्या में नक्सली एकत्र हुए हैं। फौरन ही नगरनार थाने से एसटीएफ, डीआरजी एवं डीएफ का संयुक्त पुलिस बल गश्त सर्चिंग के लिए रवाना किया गया, जिसने योजनाबद्ध तरीके से इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा में फिर लगा संपूर्ण लॉकडाउन... 31 जुलाई से 6 अगस्त तक सभी दुकानें और सरकारी दफ्तर भी रहेंगे बंद... रक्षाबंधन व ईद पर मिलेगी ये छूट !

पुलिस की मौजूदगी भांपकर नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फौरन मोर्चा संभालते हुए फायरिंग की। लगभग एक घंटे की मुठभेड़ बाद अंतत: नक्सली घने जंगल और पहाड़ी की आड़ लेकर भाग गए।

आईजी के मुताबिक मुठभेड़ स्थल पर मिले खून के धब्बे एवं घसीटे जाने के निशान से यह साबित होता है कि कम से कम 5 से 6 और नक्सली मारे गए हैं और कई लहुलूहान हुए हैं। साथियों के शव नक्सली अपने साथ ले जाने में कामयाब रहे।

बस्तर आईजी सिंहा ने बताया कि मौके से 7 वर्दीधारी नक्सलियों के शव बरामद किए गए हैं, जिनकी शिनाख्त की जा रही है। घटनास्थल की सर्चिंग के दौरान इंसास रायफल, 303 रायफल, 12 बोर भरमार बंदूक, बैनर, पोस्टर, दवाईयां, गोला-बारूद, डेटोनेटर, बिजली के तार, बैटरी, पिट्ठू, दैनिक उपयोग की सामग्रियां तथा नक्सली साहित्य का जखीरा बरामद किया गया है।

यह भी पढ़ें :  रायपुर AIIMS ने कोरोना सैंपल जांच से किया इनकार, राज्य सरकार को लिखा पत्र...जानिए क्या है वजह !