अंजलि का चेक सरकारी सिस्टम में फंसा, आशियाना फिर से बसाने पिता को कैश की आस

23

सोनू सूद के ट्वीट से चर्चा में आई अंजलि का चेक सरकारी सिस्टम में फंसा… आशियाना फिर से बसाने पिता को कैश की आस

पंकज दाऊद @ बीजापुर। फिल्म स्टार सोनू सूद की मदद की पेशकश करने वाले ट्वीट से एक ही दिन में चर्चा में आई भैरमगढ़ ब्लाॅक के कोमला गांव की छात्रा अंजलि कुड़ियम को प्रशासन की ओर से मिला चेक सरकारी पेचीदगियों में फंस गया है। उनके पिता पाकलू अपने घरौंदे को जल्द फिर से बसाने इस चेक के कैश होने की बाट जोह रहे हैं।

– अंजलि के पिता पाकलू कुड़ियम

सूत्रों के मुताबिक बीते 16 अगस्त को भारी बारिश हुई और कोमला गांव में पानी भरने लगा। गुदमा, तुमला एवं नैमेड़ से आने वाले नालों का पानी सीधे कोमला की ओर आता है। ऐसे में अंजलि के पिता और उसके भाई रात 11 बजे अपना सब कुछ छोड़कर सीधे मिंगाचल की ओर निकल पड़े क्योंकि उनका वहां रहना खतरे से खाली नहीं था।

Read More: नशे में धुत पड़े रहे डॉक्टर साहब… उधर, चली गई मरीज की जान ! कलेक्टर ने आरोपी डॉक्टर को किया सस्पेंड

यह भी पढ़ें :  तीन दिनों तक फोर्स ने किया पीछा और मार गिराए 3 माओवादी… तेलंगाना से ग्रे हाउण्ड के जवान छग पहुंचे, तीनों शव बरामद

इस बारिश में उस गांव के 26 मकान धराशायी हो गए और वहां रखे सामान या तो बह गए या नष्ट हो गए। पाकूल कुड़ियम के परिवार ने यहां मिंगाचल में शरण ली और जब 18 अगस्त को अंजलि अपने घर लौटी तो उसने देखा कि उसके सारे दस्तावेज एवं किताबें बह गईं थी। उसके पास कुछ भी नहीं था। इसे देख वह सिसकने लगी।

रातों रात चर्चा में आई अंजलि

ये खबर एक इलेक्ट्राॅनिक मीडिया में चली और फिर इसे देख फिल्म स्टार सोनू सूद ने ट्विट कर अंजलि को नया घर और शिक्षा के लिए मदद का भरोसा दिया। इसके चलते अंजलि अचानक चर्चा में आ गईं। अंजलि की पढ़ाई के प्रति ललक देख हर कोई उसके जज़्बे की तारीफ करने लगा।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  प्रेमी संग फरार हो गई दुल्हन, पति थाने पहुंचा तो लौटाया मंगलसूत्र... इस तरह एक हुए प्रेमी-प्रेमिका !

इधर, 18 अगस्त को ही जिला प्रशासन की ओर से पिता पाकूल के नाम 1 लाख 1 हजार 900 रूपए का चेक दिया गया। यह चेक विधायक विक्रम मण्डावी ने खुद जाकर अंजलि को सौंपा। लेकिन इस चेक में तारीख अंकित नहीं थी। फिर इसे पुनः तहसील कार्यालय में जमा किया गया।

– अंजलि को चेक सौंपते विधायक विक्रम मण्डावी

सोमवार को कोमला गांव में गोण्डवाना समन्वय समिति की ओर से बाढ़ प्रभावितों को किचन सेट का वितरण किया गया। इसमें अंजलि के पिता पाकलू भी आए। चेक के बारे में पाकलू ने वहां मौजूद जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम को बताया।

Read More: सरंपच के दामाद समेत 4 लोगों की हत्या… 3 ग्रामीणों का सुराग नहीं, एक का शव लेकर आई पुलिस… 3 लाशों को सौंपने से ग्रामीणों ने किया इंकार

जिला पंचायत अध्यक्ष ने पत्रकारों को बताया कि इस बारे में उन्होंने तहसीलदार से चर्चा की है। तहसीलदार अवकाश पर थे। अभी केस तैयार किया जा रहा है। जब प्रकरण तैयार हो जाएगा तो इसके कोषालय में भेजा जाएगा और इसके बाद पाकलू कुड़ियम को भुगतान हो पाएगा। वैसे प्रकरण जल्दी तैयार करने की कोशिश की जा रही है।

यह भी पढ़ें :  मंत्री कवासी लखमा को फोन पर धमकाने वाला युवक गिरफ्तार, CBI अफसर बनकर मांगे थे 2 लाख रूपए !

अभी ये है सूरत ए हाल

अंजलि जब 6 बरस की थी, तब उसकी मां कमली का देहांत हो गया। तब उसका छोटा भाई एक साल का था। उसने कृषि विषय से बारहवी कक्षा पास की है और अभी काॅलेज में दाखिले की कोशिश में है। उसका भाई अभी सातवीं कक्षा में पढ़ता है। घर तो पूरी तरह ढह गया है।

– बाढ़ के बाद घर की कुछ ऐसी हालत है

बताया गया है कि अंजलि के गांव में पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा एवं भाजपा कार्यकर्ता आए थे। तब उनके अस्थायी तौर पर रहने के लिए एक झोपड़ी बना दी गई। फिलहाल पाकलू का परिवार यहीं रह रहा है और इस परिवार को अपना आशियाना दोबारा बसाने के लिए सरकारी चेक के कैश होने का इंतजाार है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…