9 करोड़ की सड़क से गायब होने लगा है डामर… पूर्व मंत्री गागड़ा बोले, ”FIR नहीं हुई तो अदालत का दरवाजा खुला”

1321

9 करोड़ की सड़क से गायब होने लगा है डामर… पूर्व मंत्री गागड़ा बोले, ‘‘ FIR नहीं हुई तो अदालत का दरवाजा खुला ’’

पंकज दाऊद @ बीजापुर। उसूर और आवापल्ली के बीच 9 करोड़ रूपए की लागत से बनाई गई सड़क से डामर का नामोनिशान मिटता जा रहा है और ये फिर से पुराने हाल में लौट रही है। आवापल्ली थाने में इसे लेकर पीडब्ल्यूडी एवं कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने कहा है कि सत्तापक्ष के दबाव में यदि प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी, तो भाजपा के लिए अदालत जाने का विकल्प खुला है।

यह भी पढ़ें :  कोरोना के चलते 31 मार्च तक बंद रहेगी दुकानें, कलेक्टर ने जारी किया आदेश... इन सेवाओं पर नहीं पड़ेगा असर!

पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास राव मुदलियार, अजजा मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुखलाल पुजारी, जिला उपाध्यक्ष उर्मिला तोकल, जिला पंचायत सदस्य जानकी कोरसा, मण्डल अध्यक्ष नीलकण्ठ ककेम एवं भाजपाइयों ने उसूर और आवापल्ली के बीच 12 किमी की सड़क का हाल देखा। करीब डेढ़ साल पहले बनी सड़क से डामर गायब होने लगा है और गड्ढे बनते जा रहे हैं।

– उसूर रोड पर बैठे भाजपाई।

पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि इसमें स्थानीय विधायक, विभाग और की स्टोन कंपनी की मिलीभगत है। कमीशन का ऐसा खेल चला कि सड़क ही बर्बाद हो गई। इस घटिया निर्माण से उसूर की ओर जाने वाले लोग परेशान हैं। सड़क पर बैठे भाजपाइयों ने कहा कि वे रोड में डामर की तलाश कर रहे हैं। इस सड़क में बहुत तकनीकी खामी है और कमीशन के फेर में इस ओर ध्यान नहीं दिया गया।

यह भी पढ़ें :  जगदलपुर से सटे नगरनार इलाके में नक्सली घमक, ग्रामीण को उतारा मौत के घाट

भाजपाई इसके बाद आवापल्ली थाने पहुंचे और पीडब्ल्यूडी एवं की स्टोन कंपनी के खिलाफ एफआईआर के लिए शिकायत दर्ज करवाई। पूर्व मंत्री ने कहा कि सत्तापक्ष के दबाव में यदि एफआईआर दर्ज नहीं की जाती है तो वे अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

– धान खरीदी केन्द्र में किसानों से बातचीत करते पूर्व मंत्री महेश गागड़ा।

धान खरीदी का जायजा लिया

भाजपा नेता धान उसूर व आवापल्ली खरीदी केन्द्र पहुंचे और किसानों से चर्चा की। किसानों ने अपनी परेशानी बताई। इसके पहले वे जनपद सदस्य शंकरैया माड़वी के घर गए और उनके बीमार पिता शांतैया माड़वी का हालचाल जाना। शांतैया माड़वी कुछ दिनों से किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने ग्रामीण को उतारा मौत के घाट, पुलिस मुखबिरी का लगाया आरोप...शव के पास फेंके पर्चे