‘लोन वर्राटू’ में भागीदारी के चलते कांग्रेस नेता की हत्या ! भैरमगढ़ एरिया कमेटी ने ली जिम्मेदारी, कैम्प खुलने से भी नाराजगी

44

‘लोन वर्राटू’ में भागीदारी के चलते कांग्रेस नेता की हत्या ! भैरमगढ़ एरिया कमेटी ने ली जिम्मेदारी, कैम्प खुलने से भी नाराजगी

पंकज दाऊद @ बीजापुर। भैरमगढ़ इलाके में नए कैम्प खुलने से नाराज नक्सलियों ने जिला पंचायत सदस्य एवं कांग्रेस किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष बुधराम कश्यप (45) की शुक्रवार की देर शाम धारदार हथियार से हत्या कर दी। उन पर नक्सलियों ने ‘लोन वर्राटू’ यानि घर वापसी अभियान में भागीदारी का भी आरोप लगाया।

यहां से करीब 65 किमी दूर भैरमगढ़ ब्लाॅक के तालनार गांव में 10 नक्सली शुक्रवार की शाम करीब 7 सात बजे पहुंचे। इनमें से दो नक्सली उनके घर गए। तब बुधराम कश्यप भोजन की तैयारी कर रहे थे। दो नक्सली उन्हें घर से करीब 20 मीटर दूर ले गए जहां और 8 नक्सली मौजूद थे। इनमें से दो के पास बंदूक और बाकि के पास तीर, धनुष कुल्हाड़ी एवं दीगर पारंपरिक हथियार थे।

यह भी पढ़ें :  लॉकडाउन में नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दंतेवाड़ा व कांकेर में 5-5 किलो के 3 IED बरामद

नक्सलियों ने वहां बुधराम कश्यप के सिर पर धारदार हथियार से कई वार किए। इससे मौके पर ही बुधराम की मौत हो गई। हत्या के बाद नक्सलियों ने पर्चे फेंके। पर्चे में नक्सलियों ने इस क्षेत्र में पुलिस कैम्प खुलने और सड़क बनाने पर नाराजगी जताई है।

नक्सलियों ने जिला पंचायत सदस्य पर ‘लोन वर्राटू’ अभियान में भागीदारी का आरोप भी लगाया है। हत्या की जिम्मेदारी नक्सलियों की भैरमगढ़ एरिया कमेटी ने ली है। इस वारदात से गांव में दहशत का माहौल है।

पहले भी कर चुके हैं हत्या

यह भी पढ़ें :  क्वारेंटाइन सेंटर में रखे CRPF जवान ने आदिवासी युवती से किया दुष्कर्म... FIR दर्ज, आरोपी भेजा गया जेल

बता दें कि भोपालपटनम ब्लाॅक के संगमपल्ली गांव में 5 साल पहले नक्सलियों ने जिला पंचायत सदस्य रामसाय मज्जी को उनके घर के सामने घारदार हथियार से वार कर मार डाला था। रामसाय रिर्टायर्ड हेड मास्टर थे और फिर वे भाजपा में शामिल हो गए थे। भाजपा के समर्थन से वे जिला पंचायत सदस्य बने थे।

लोकप्रिय थे कांग्रेस लीडर

बुधराम कश्यप की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके अंतिम संस्कार में ना केवल तालनार बल्कि आसपास के गांवों से सैकड़ों लोग आए थे। बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों की मौजूदगी में शनिवार की दोपहर उनका अंतिम संस्कार किया गया।

इस दौरान बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं बीजापुर विधायक विक्रम शाह मण्डावी, दंतेवाड़ा विधायक देवती कर्मा, बीजापुर जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, दंतेवाड़ा जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा, छबिन्द्र कर्मा, कलेक्टर रितेश अग्रवाल, एसपी कमलोचन कश्यप, सभी चारों जनपद अध्यक्ष, बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता उनके अंतिम संस्कार में आए थे। तालनार से भैरमगढ़ के बीच सुरक्षा के चाक चौबंद इंतेजाम किए गए थे।

यह भी पढ़ें :  बीजापुर में नक्सलियों ने मचाया उत्पात, 6 वाहनों में की आगजनी... PMGSY सड़क निर्माण में लगी थी वाहनें

Read More:

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…