बस्तर के लोगों की सहमति के बिना शुरू नहीं होगी बोधघाट परियोजना : भूपेश बघेल

916

बोधघाट परियोजना पर CM भूपेश की दो टूक, बोले- बस्तर के लोगों की सहमति के बिना शुरू नहीं होगा प्रोजेक्ट

कांकेर @ खबर बस्तर। बस्तर में प्रस्तावित बोधघाट परियोजना को लेकर सीएम भूपेश बघेल का बड़ा बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर के स्थानीय लोगों की सहमति के बिना यह प्रोजेक्ट अस्तित्व में नहीं आ सकता।

सीएम ने साफ किया कि बस्तर के लोग जब तक सहमत नहीं होंगे, बोधघाट परियोजना प्रारंभ नहीं की जाएगी। सोमवार को कांकेर में प्रेस वार्ता में मीडियाकर्मियों से मुखातिब होते उन्होंने यह बात कही।

यह भी पढ़ें :  IED ब्लास्ट में CAF जवान गंभीर रूप से घायल, स्थिति नाजुक

मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर में तेजी से विकास कार्य कराए जा रहे हैं। ​विगत साढ़े तीन सालों में बस्तर विकास के क्षेत्र में काफी आगे बढ़ा है। ग्रामीण विकास और खेती किसानी को लेकर शासन ने जो निर्णय लिए हैं उससे तेजी से लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है।

सरकार द्वारा शुरू की गई न्याय योजनाओं का पैसा ग्रामीणों के खाते में आ रहा है इसलिए हर भेंट मुलाकात में बैंक खोलने संबंधी मांग अधिक आ रही है। वाहनों की खरीदी बढ़ गई है ट्रैक्टर, कार, बाइक के नये शो रूम तेजी से खुल रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  नक्सली संगठन को बड़ा झटका, 50 लाख के इनामी नक्सली अक्कीराजू हरगोपाल की मौत

सीएम ने कहा कि वनोपज संग्रहण की नीति से भी सुखद बदलाव हुआ है। महुआ की खरीदी बढ़ी है। शिक्षा के क्षेत्र में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूलों के माध्यम से और स्वास्थ्य में हाट बाजार में मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से लोगों को बेहतर सुविधाएं मिल पा रही हैं।

पर्यटन सुविधाओं का विस्तार

सीएम ने कहा कि बस्तर में पर्यटन सुविधाओं का भी तेजी से विस्तार हो रहा है। हम हवाई सेवा का विस्तार कर रहे हैं। योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन जमीनी स्तर पर हो रहा है। भेंट मुलाकात के दौरान जो खामी दिखी है उसे भी दुरूस्त करने के लिए कार्य किया जाएगा।

यह भी पढ़ें :  12 नक्सलियों के सरेंडर को माओवादी नेता ने बताया फर्जी, जिसे उतारा मौत के घाट उसे बताया DRG का जवान!