बर्ड फ्लू: मार्केट से ब्रायलर गायब, देसी का रेट बढ़ा…अण्डे के दाम दो रूपए बढ़े, ये भी खत्म होने के कगार पर

60

बर्ड फ्लू: मार्केट से ब्रायलर गायब, देसी का रेट बढ़ा…अण्डे के दाम दो रूपए बढ़े, ये भी खत्म होने के कगार पर

पंकज दाऊद @ बीजापुर। बर्ड फ्लू को रोकने मुर्गियों और पोल्ट्री उत्पादों के परिवहन पर प्रतिबंध के चलते जिला मुख्यालय में मार्केट से ब्रायलर मुर्गियां गायब हो गई हैं और इसी वजह से देसी मुर्गी के दाम में 100 रूपए किलो की बढ़ोतरी हो गई है।

जिले में बाहर से पोल्ट्री उत्पादों को लाने पर बैन लगा दिया गया है। इसके चलते यहां ब्रायलर मुर्गियां नहीं पहुंच पा रही हैं। पहले से लाए ब्रायलर बिक गए हैं। इससे चिकन मार्केट में सूनापन पसर गया है।

यह भी पढ़ें :  प्रेमी संग फरार हो गई दुल्हन, पति थाने पहुंचा तो लौटाया मंगलसूत्र... इस तरह एक हुए प्रेमी-प्रेमिका !

एक व्यापारी ने बताया कि यहां धमतरी से ब्रायलर मंगाए जाते थे। ब्रायलर पहले जो लाए गए थे, वे बिक गए हैं। तेलंगाना से भी उसी दशा में पहले ब्रायलर लाए जाते थे, जब वहां रेट गिर जाता था लेकिन यहां के लिए मेन मार्केट धमतरी ही है।

उन्होंने बताया कि कुछ दिनों पहले तक देसी मुर्गी का दाम 500 रूपए किलो था। अब इसे बढ़ाकर 550 और 600 रूपए कर दिया गया है। यहां दुकानदार आसपास के हाट बाजारों से मुर्गियां खरीदकर लाते हैं। गांव के हाट बाजारों में भी रेट बढ़ जाने से उन्हें ज्यादा दाम में मुर्गियां बेचनी पड़ रही हैं।

यह भी पढ़ें :  ऑपरेशन राहत: बाढ़ में फंसी दो गर्भवती महिलाओं को सुरक्षित पार लाया गया... राखी मनाने गई महिलाएं भी लौटीं घर

वैसे देसी मुर्गियों की डिमाण्ड कम नहीं हुई है लेकिन कुछ लोग डर की वजह से इसे नहीं खा रहे हैं। इधर, आवक नहीं होने अण्डों के दाम सात रूपए तक पहुंच गए लेकिन अब मार्केट से भी अण्डे गायब होते जा रहे हैं। यहां धमतरी एवं जगदलपुर से अण्डे मंगाए जाते हैं।

तो जप्त हो जाएगी नाव..?

उप संचालक पशुधन विकास डाॅ एपी दोहरे ने शनिवार को आवापल्ली, तारलागुड़ा, तिमेड़ एवं मट्टीमरका का दौरा किया। उन्होंने आवापल्ली में दुकानदारों को कहीं से भी चोरी छिपे मुर्गियां लाए जाने की सूचना मिलने पर दुकान सील कर देने की चेतावनी दी।

यह भी पढ़ें :  मांई दंतेश्वरी की आराधना कर सीएम भूपेश ने छत्तीसगढ़ की खुशहाली का मांगा आशीर्वाद... शहीदों की स्मृति में रोपा पीपल का पौधा

Read More:

 

तारलागुड़ा एवं तिमेड़ में एक-एक टीम तैनात है। डाॅ दोहरे ने मट्टीमरका में नाविकों से महाराष्ट्र की ओर से मुर्गियों को नहीं लाने की चेतावनी देते कहा कि ऐसा होने पर नाव जप्त कर ली जाएगी।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…