CM भूपेश बघेल के पिता आगरा से गिरफ्तार… न्यायिक हिरासत में भेजा गया जेल, आपत्तिजनक बयान मामले में दर्ज हुई थी FIR

114

CM भूपेश बघेल के पिता आगरा से गिरफ्तार… न्यायिक हिरासत में भेजा गया जेल, आपत्तिजनक बयान पर हुई थी FIR

रायपुर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल को आपत्तिजनक बयान देने के मामले में 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। रायपुर पुलिस ने उन्हें आगरा से गिरफ्तार कर मंगलवार को कोर्ट में पेश किया था।

– गिरफ्तारी के बाद बघेल ने थाने में किया भोजन

नंद कुमार बघेल ने जमानत अर्जी देने से इंकार कर दिया था। जमानत अर्जी दाखिल नहीं होने की स्थिति में कोर्ट ने बघेल को 14 दिन के न्यायिक रिमांड पर जेल भेजने का निर्देश दिया। इस मामले में 21 सितंबर को सुनवाई होगी।

आपको बता दें कि सीएम के पिता नंद कुमार बघेल ने लखनऊ में एक कार्यक्रम में ब्राह्मणों को बाहरी (विदेशी) बताया था। उनके इस बयान के बाद सर्व ब्राह्मण समाज की शिकायत पर रायपुर के डीडी नगर थाने में उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई।

यह भी पढ़ें :  'मांई दंतेश्वरी' के नाम से पहचाना जाएगा जगदलपुर का एयरपोर्ट, बस्तर के जनप्रतिनिधियों की मांग पर CM ने दी सहमति

बघेल के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 (समुदायों के बीच शत्रुता, घृणा या वैमनस्य की भावनाएं पैदा करने) और 153 ए के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। इस मामले में ब्राह्मण समाज द्वारा FIR दर्ज करने और बघेल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया गया था।

Read More:

एफआईआर दर्ज होने के बाद एक दिन पहले रायपुर पुलिस ने आगरा से नंदकुमार बघेल को गिरफ्तार किया था, जहां से उन्हें फ्लाइट से रायपुर लाया गया और फिर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट में करीब एक घंटे तक चली बहस के बाद उन्हें 15 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेजने का निर्देश दिया गया।

 

यह भी पढ़ें :  कोरोना संक्रमित कांग्रेसी नेता की मौत, डिमरापाल मेडिकल कालेज में ली अंतिम सांस... परिवार के अन्य सदस्य भी अस्पताल में भर्ती

सीएम भूपेश बघेल ने भी इस मामले में ट्वीट किया था और कहा था कि वे अपने पिता का सम्मान करते हैं लेकिन प्रदेश में कानून से ऊपर कोई नहीं है। सीएम ने लिखा— ‘एक पुत्र के रूप में मैं अपने पिता जी का सम्मान करता हूँ लेकिन एक मुख्यमंत्री के रूप में उनकी किसी भी ऐसी गलती को अनदेखा नहीं किया जा सकता जो सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने वाली हो।
हमारी सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं है फिर चाहे वो मुख्यमंत्री के पिता ही क्यों न हों।’

यह भी पढ़ें :  स्पाइक होल और प्रेशर बम के खतरों में माड़ में भटकती एक बेबस बीवी

⇓ ये VIDEO देखा क्या