दंतेवाड़ा में कोरोना की दस्तक: कलेक्टर बोले- घबराने की जरूरत नहीं, सतर्क रहें, अफवाहों से बचें… भ्रामक खबर फैलाने पर होगी कार्रवाई !

44
Collector said that action will be taken to spread misleading news on Corona
???????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????

दंतेवाड़ा में कोरोना की दस्तक: कलेक्टर बोले- घबराने की जरूरत नहीं, सतर्क रहें, अफवाहों से बचें… भ्रामक खबर फैलाने पर होगी कार्रवाई !

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ में तेजी से पांव पसार रहे कोरोना वायरस की एण्ट्री दक्षिण बस्तर में भी हो गई है। दंतेवाड़ा जिले के दो मजदूरों के कोरोना संक्रमित होने से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल बन गया है। ऐसे में कलेक्टर ने प्रेस कान्फ्रेंस कर कोरोना को लेकर प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों को मीडिया के साथ साझा किया।

Collector said that action will be taken to spread misleading news on Corona

कलेक्टर दीपक सोनी ने कहा कि जिले के 2 प्रवासी मजदूरों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। दोनों का इलाज जगदलपुर मेडिकल कालेज में चल रहा है। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना को लेकर डरने या घबराने की जरूरत नहीं है। बस एहतियात बरतें और सोशल डिस्टेंस का पालन करें। उन्होंने लोगों से भ्रामक खबरों व अफवाहों से बचने की भी अपील की।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  सड़क निर्माण में लगे रोड रोलर में नक्सलियों ने की आगजनी

कलेक्टर ने बताया कि कोरोना संक्रमित दोनों मजदूर हैदराबाद में किसी बोरवेल कंपनी में काम करते थे। वहां एक्सीडेंट के बाद कुल 6 लोगों को 1 जून को हैदराबाद के उस्मानिया हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। यहां से इलाज के बाद उन्हें 11 जून को डिमरापाल मेडिकल कालेज में रेफर किया गया था।

आंध्र से लौटने के बाद निकले संक्रमित

मेडिकल कालेज में इलाज के बाद दो लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। चूंकि ये दूसरे राज्य से लौटे थे लिहाजा इन्हें दंतेवाड़ा के एनआरसी आइसोलेशन सेंटर में रखा गया था। जगदलपुर में इलाज करा रहे 4 मजदूरों में से एक कोरोना पॉजिटिव पाया गया, जबकि दंतेवाड़ा में आइसोलेट एक अन्य युवक भी संक्रमित निकला। कोरोना संक्रमित दो युवाओं में एक कटेकल्याण और दूसरा कुआकोंडा ब्लॉक का निवासी है।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  कोरोना विस्फोट: प्रदेश में मिले 113 पॉजिटिव मरीज... यह जिला फिर बना हॉट स्पॉट, एक दिन में सामने आए 44 नए मामले... 84 मरीज हुए डिस्चार्ज, 2 लोगों की मौत भी हुई

भ्रामक खबरें फैलाने पर होगी कार्रवाई

कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बावजूद लोगों को इससे डरने या घबराने की कोई जरूरत नहीं है। कोविड 19 को लेकर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है और सभी आवश्यक तैयारियां कर ली गई हैं। कलेक्टर ने लोगों से मास्क लगाने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के अलावा भ्रामक खबरो व अफवाहों से दूर रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि भ्रामक खबरें फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मेडिकल स्टॉफ को भी किया गया क्वारंटीन

कलेक्टर ने साफ किया कि कोरोना संक्रमित दोनों प्रवासी मजदूर शहर में किसी के भी संपर्क में नहीं आए हैं। दंतेवाड़ा के आइसोलेशन सेंटर में रहा युवक भी पूरी निगरानी में रहा। ऐसे में स्थानीय लोगों को किसी भी प्रकार से डरने की आवश्यकता नहीं है। कलेक्टर ने कहा कि आइसोलेशन सेंटर में तैनात 5 मेडिकल स्टॉफ को भी एहतियातन क्वारंटीन किया गया है। इनका सैंपल भी लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :  भूपेश सरकार का बड़ा फैसला: छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की रेल यात्रा का किराया वहन करेगी राज्य सरकार

Read More: 

 

कलेक्टर सोनी ने कोविड 19 को लेकर प्रशासन द्वारा की गई तैयारियों के बारे में बताया कि जिले में कुल 64 क्वारंटीन सेंटर बनाए गए थे। इनमें से 54 क्वारंटीन सेंटर में 3821 प्रवासी मजदूरों को रखा गया था, जिनमें से क्वारंटीन अवधि के बाद 3389 अपने घर वापस लौट गए हैं। फिलहाल, 13 क्वारंटीन सेंटर एक्टिव हैं जिसमें 505 लोगों को रखा गया है। पत्रकारवार्ता के दौरान जिपं सीईओ अश्विन देवांगन व CMHO डॉ एसपीएस शांडिल्य भी मौजूद थे।

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

ख़बर बस्तर के व्हॉट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए….