DSP बंगले के बैरक में आरक्षक की लाश मिलने से सनसनी, पुलिस जांच में जुटी, मौत का कारण अज्ञात

87

DSP बंगले के पीछे बैरक में आरक्षक की लाश मिलने से सनसनी, पुलिस जांच में जुटी, मौत का कारण अज्ञात

सुकमा @ खबर बस्तर। सुकमा डीएसपी के बंगले के पीछे स्थित बैरक में आरक्षक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है। फिलहाल, आरक्षक की मौत का कारण अज्ञात है।

 

जानकारी के मुताबिक, शनिवार की सुबह करीब साढ़े 8 बजे डीएसपी मुख्यालय श्याम मधुकर के बंगले के पीछे बैरक में आरक्षक महेन्द्र चौरसिया मृत अवस्था में पाया गया। बंगले में मौजूद जवानों ने महेन्द्र का शव देखा और इसकी सूचना अफसरों को दी।

यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ को मिले 5 नए IAS, नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा की नम्रता जैन को मिला होम कैडर

Read More: 

 

बताया गया है कि मृत आरक्षक महेन्द्र चौरसिया डीएसपी का वाहन चालक था। बैरक में संदिग्ध हालत में उसका शव मिलने से सनसनी मच गई। उसके मुँह पर झाग के निशान थे। महेन्द्र मूलत: दुर्ग जिले का रहने वाला था। सुकमा पुलिस द्वारा आरक्षक के मौत की खबर परिजनोें को दे दी गई है।

यह भी पढ़ें :  BIG BREAKING: नक्सलियों ने यात्री बस में की आगजनी, मुसाफिरों को बस से उतार लगाई आग

Read More: 

इस बारे में कोतवाली प्रभारी एकेश्वर नाग का कहना है कि शुक्रवार की रात आरक्षक महेन्द्र चौरसिया भोजन करने के बाद सोने चला गया था। दूसरे दिन सुबह उसकी लाश बैरक में मिली। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के विषय में कुछ कहा जा सकता है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  442 लोगों को मिला जमीन का मालिकाना हक, MLA मण्डावी बोले- पट्टेे के लिए चक्करदार रास्ते अब खत्म

ख़बर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए….