कम पड़ गए साढे़ 22 हजार बारदाने, वारंगल और नागपुर के महंगे बोरे खरीदने को मजबूर किसान

36

कम पड़ गए साढे़ 22 हजार बारदाने, वारंगल और नागपुर के महंगे बोरे खरीदने को मजबूर किसान

पंकज दाऊद @ बीजापुर। जिले में बारदानों का टोटा इस कदर है कि यदि किसान बारदाने नहीं लाएगा तो धान खरीदी का टारगेट पूरा करना थोड़ा मुश्किल है। जिले में 1890 गठान के मुकाबले सिर्फ 1440 बारदानों की ही आपूर्ति हो पाई है। एक गठान यानि 50 बोरे।

इस मान से जिले को साढ़े 22 हजार बोरे कम मिले हैं और इसकी भरपाई खुद किसान ही कर रहे हैं। वारंगल और नागपुर से व्यापारी भोपालपटनम एवं बीजापुर के बाजारों में लाकर बारदाने बेच रहे हैं। किसानों को ये बारदाने 25 से 30 रूपए में मिल रहे हैं जबकि इसका मोल सरकार से इन्हें सिर्फ 15 रूपए ही मिलता है।

यह भी पढ़ें :  कांकेर में मिला कोरोना संक्रमित मरीज, मुंबई से लौटे युवक की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

Read More:

 

डीएमओ प्रमोद सोम ने बताया कि इस साल जिले में 62700 मेट्रिक टन धान खरीदी का टारगेट है जबकि पिछले साल 58283 मेट्रिक टन की खरीदी हुई थी। उन्होंने बताया कि जिले से 1890 गठान की डिमाण्ड थी लेकिन अब तक यहां 1440 गठान बारदाने ही पहुँच पाए हैं।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा के आश्रम में पदस्थ चपरासी की चमकी किस्मत, Dream-11 में जीते 1 करोड़ रूपए

50 फीसदी बारदाने उपलब्ध

धान खरीदी केंद्रों में पहले से उपलब्ध बोरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। अभी 50 फीसदी बारदाने उपलब्ध हैं। किसानों से कहा गया है कि वे 100 फीसदी बोरे भी दे सकते हैं। इसके बदले में उनके खाते में प्रति बोरी के मान से पंद्रह रूपए जमा कर दिए जाएंगे।

यदि किसान बारदाने नहीं देगा, तो धान खरीदी में दिक्कत आ सकती है। प्लास्टिक बैग पर सरगुजा और बस्तर संभाग में पाबंदी है क्योंकि यहां केन्द्रों से मिल की दूरी काफी है। ऐसे में बोरों के फटने का डर रहता है।

Read More:

डीएमओ ने बताया कि जिले में कुल 19 केन्द्रों में खरीदी हो रही है। इस साल इलमिड़ी में नया केन्द्र खुला है। तिमेड़, फरसेगढ़, मिरतूर समेत 5 स्थानों पर नए केन्द्र खोलने प्रस्ताव भेजा गया था लेकिन क्राइटेरिया पूरा नहीं होने से इन्हें मंजूरी नहीं मिल सकी।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ में UK से लौटे 4 लोग मिले कोरोना पॉजिटिव…विदेश से लौटने के बाद 11 लोगों का मोबाइल स्विच ऑफ‚ खोजबीन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस की मांगी मदद

खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…