मूर्तियां गायब नहीं, इनकी तस्करी हुई… पूर्व मंत्री गागड़ा बोले, ”लोगों की आस्था पर लगी है गहरी चोट”

362

मूर्तियां गायब नहीं, इनकी तस्करी हुई… पूर्व मंत्री गागड़ा बोले, ”लोगों की आस्था पर लगी है गहरी चोट”

पंकज दाऊद @ बीजापुर। यहां महादेव तालाब के समीप शिव मंदिर परिसर से छिन्दक नागवंश काल की 7 प्रतिमाओं के गायब होने के मसले पर पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने कहा कि मूर्तियों की तस्करी हुई है और वह भी सत्तापक्ष के लोगों की शह पर। ये सिर्फ तस्करी ही नहीं है बल्कि ये लोगों की आस्था पर गहरी चोट है।

– पत्रकारों से चर्चा करते पूर्व मंत्री व भाजपा नेता

यहां शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष जी वेंकट एवं नेत्री उर्मिला तोकल ने मूर्तियों की तस्करी पर चिंता जाहिर की। उन्होंने सत्तापक्ष पर सीधा आरोप लगाते कहा कि इसे अफसर ले गए हैं।

यह भी पढ़ें :  भूपेश सरकार का बड़ा फैसला: छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की रेल यात्रा का किराया वहन करेगी राज्य सरकार

इस मामले में ना तो प्रशासन और ना ही पुलिस संजीदा है। पहले तो प्रशासनिक अधिकारी इस बारे में लोगों का ज्ञापन लेने से ही आनाकानी कर रहे थे। फिर उन्होंने इसे लिया।

– प्राचीन मूर्तियां।

प्रशासनिक अफसरों ने तीन दिनों में मूर्तियों को बरामद कर यथास्थिति में रखने का वादा किया था लेकिन अब तो काफी दिन हो गए हैं। प्रतिमाओं का अता-पता नहीं है। यह मसला विधानसभा में उठेगा।

भाजपा सरकार के काल में कतिपय कांग्रेसियों के भोपालपटनम इलाके में सैकड़ों एकड़ भूमि कब्जाए जाने के सवाल पर महेश गागड़ा ने कहा कि इसकी शिकायत मिली थी। कार्रवाई शुरू ही होने वाली थी कि सरकार बदल गई।

यह भी पढ़ें :  इस सरकारी स्कूल में नौनिहालों को प्राइवेट स्कूल की तर्ज पर मिलेगी शिक्षा... CBSE इंग्लिश मीडियम स्कूल का विधायक ने किया शुभारंभ

वन महकमे की भोपालपटनम में दो दिन पहले की गई छापेमारी के सवाल पर पूर्व वन मंत्री ने कहा कि इसमें भी कांग्रेसी नेताओं की संलिप्तता है। एक पार्षद भी इसमें शामिल हैं। कार्रवाई तो हुई लेकिन विलंब से। इससे अपराधियों को बचने का मौका मिल गया। इस क्षेत्र में हो रही कटाई को लेकर विधानसभा में वन मंत्री से सवाल किया जाएगा।

नजर थी पल-पल पर

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते महेश गागड़ा ने कहा कि 10 मार्च को रिजल्ट को ले बीजापुर ही नहीं बल्कि समूचे देश के लोगों की नजर सुबह से टीवी पर टिकी थी। उप्र पर ज्यादा निगाहें थी, हालांकि सर्वे में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलता दिखाया-बताया जा रहा था। इस चुनाव का असर अब छग में भी पड़ेगा।

यह भी पढ़ें :  हेडमास्टर का गला रेतकर हाथ में पकड़ा दिया चाकू, सलाखों के पीछे पहुंचा आरोपी