बारिश का अलर्ट: कई जिलों में बाढ़ से बिगड़े हालात, अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना

66
Heavy rains expected in many areas of Chhattisgarh including Bastar today

बारिश का अलर्ट: कई जिलों में बाढ़ से बिगड़े हालात, अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना

रायपुर/जगदलपुर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के कई जिलों में पिछले करीब एक सप्ताह से बारिश हो रही है। भारी बारिश के चलते बस्तर संभाग के सुकमा व बीजापुर जिले में बाढ़ के हालात बन गए थे। हालांकि, अब जनजीवन सामान्य होने लगा है। लेकिन मौसम विभाग ने प्रदेश के कई हिस्सों में एक बार फिर भारी बारिश की संभावना जताई है।

Heavy rains expected in many areas of Chhattisgarh including Bastar today

मौसम विभाग के मुताबिक, बुधवार को प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। गरज चमक के बीच एक-दो स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने की भी आशंका है। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश के दक्षिणी इलाके में भारी वर्षा की संभावना अधिक है।

यह भी पढ़ें :  बीजापुर नगर पालिका में कांग्रेस का कब्जा, बेनहूर रावतिया अध्यक्ष और सल्लूर उपाध्यक्ष बने

Read More:

 

बताया गया है कि प्रदेश में मानसून की गतिविधियां तेज होने के कारण अगले 24 घंटे के दौरान बस्तर और रायपुर संभाग के कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। वहीं अन्य स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होगी। मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिनों तक राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

इन जिलों में बारिश का पूर्वानुमान

मौसम विभाग ने प्रदेश के बस्तर, कांकेर, दल्लीराजहरा, बालोद, रायगढ़ समेत कुछ अन्य स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना व्यक्त की है। वहीं प्रदेश के बाकी इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं। बताया गया है कि 19 अगस्त से बंगाल की खाड़ी में तैयार हो रहा कम दबाव का क्षेत्र अगले एक-दो दिन में और मजबूत होगा, जिससे प्रदेशभर में भारी से अतिभारी बारिश हो सकती है।

यह भी पढ़ें :  सुकमा में नक्सली वारदात: सड़क निर्माण में लगी 2 वाहनों में की आगजनी...एक कर्मचारी को उतारा मौत के घाट

Read More:

 

बता दें कि भारी बारिश की वजह से बस्तर के सुकमा व बीजापुर जिले में लोगों को बाढ़ की विभीषिका झेलनी पड़ी थी। सुकमा में शबरी नदी का जलस्तर बढ़ने से एनएच 30 पर आवागमन बंद रहा। वहीं बीजापुर में मिंगाचल नदी में बाढ से जिला मुख्यालय का संपर्क जगदलपुर समेत तेलंगाना व महाराष्ट्र से कट गया था।

यह भी पढ़ें :  भाजपा जिलाध्यक्ष के दलबदलू वाले बयान पर ताटी का पलटवार, कहा- मुदलियार जैसे नेताओं ने ही BJP की नैया डुबोई!

भारी बारिश के चलते बीजापुर में कई मकान भी जमींदोज हो गए। वहीं एक किसान के 83 मवेशियों की चिंतावागु नदी में डूबने से मौत हो गई। मंगलवार को विधायक विक्रम मण्डावी ने बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा कर लोगों की परेशानी जानी। वहीं पूर्व मंत्री महेश गागड़ा भी अपने स्तर पर बाढ़ प्रभावितों की मदद करने में जुटे हैं।

मंत्रियों का दौरा रद्द

बस्तर में बने बाढ के हालात के मद्देनजर राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल व आबकारी मंत्री कवासी मंगलवार को बीजापुर व सुकमा जिले का हैलीकॉप्टर से दौरा करने वाले थे। लेकिन मौसम की खराबी की वजह से मंत्रियों को अपना प्रवास टालना पड़ गया।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…