कोबरा बटालियन के इंस्पेक्टर ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, शौचालय में मिली लाश

199

कोबरा बटालियन के इंस्पेक्टर ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, शौचालय में मिली लाश

के. शंकर @ सुकमा। बस्तर में तैनात सुरक्षा बल के जवानों द्वारा खुदकुशी किए जाने का सिलसिला नहीं थम रहा है। साल 2021 के आखिरी दिन भी सुकमा जिले से ऐसी ही खबर सामने आई, जहां सीआरपीएफ कैम्प में इंस्पेक्टर ने फांसी के फंदे पर झूलकर अपनी जान दे दी।

यह पूरी घटना सुकमा जिले के चिन्तागुफा थाना क्षेत्र के बुरकापाल कैम्प की है। यहां पदस्थ कोबरा 206 बटालियन के इंस्पेक्टर वालंग उम्र 37 वर्ष ने गुरुवार की रात करीब 8.50 बजे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कैम्प परिसर के टॉयलेट में उनकी लाश फंदे पर लटकी मिली।

यह भी पढ़ें :  सरकारी शादी में दोबारा फेरे लेते दिखे कई शादीशुदा जोड़े, विभाग पर उठे सवाल तो मंत्री अनिला भेड़िया बोलीं- टारगेट पूरा करने हुई कवायद!

ये नजारा देख साथी जवान सकते में आ गए और उन्होंने अधिकारियों को घटना की जानकारी दी। शौचालय में इंस्पेक्टर वालंग ने गमछे का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली थी। साथी जवानों ने शौचालय का दरवाजा खोलकर इंस्पेक्टर को बाहर निकाला और उन्हें चिंतलनार फील्ड अस्पताल लेकर गए, जहां सीआरपीएफ के डॉक्टरों ने इंस्पेक्टर वालंग को मृत घोषित कर दिया।

घटना के दूसरे दिन शुक्रवार सुबह चिन्तागुफा थाना प्रभारी और थाना स्टॉफ ने पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा। जिला अस्पताल सुकमा से पोस्टमॉर्टम के बाद इंस्पेक्टर के शव को उनके गृह राज्य नागालैण्ड पहुंचाने के लिए कोबरा 206 ए कम्पनी को सुपुर्द किया गया है।

यह भी पढ़ें :  ब्रितानी हुकूमत में नीलगाय के चमड़े की बनती थी चप्पलें... अब अपना पेशा छोड़ने लगे हैं लोग

सुकमा जिले के एसपी सुनील शर्मा ने घटना की पुष्टि करते बताया कि इंस्पेक्टर वालंग ने कैम्प में आत्महत्या कर ली। इस घटना के सभी पहलुओं पर बारीकी से जांच कर कार्यवाही की जा रही है। बताया जा रहा है कि इंस्पेक्टर वालंग की तैनाती कोबरा 206 ए कम्पनी में इसी महीने की 7 तारीख को हुई थी। हाल ही में वे छुट्टी से वापस लौटे थे।