CRPF कैम्प में जवान ने की खुदकुशी… इलेक्ट्रिक ब्लेड से काट लिया खुद का गला, मचा हड़कंप!

1930

CRPF कैम्प में जवान ने की खुदकुशी… इलेक्ट्रिक ब्लेड से काट लिया खुद का गला, मचा हड़कंप!

बीजापुर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में सुरक्षा बल के एक जवान ने आत्महत्या के लिए ऐसा खौफनाक रास्ता चुना जिसे देखकर कैम्प में हड़कंप मच गया। जवान ने खुदकुशी क्यों की, यह अनसुलझा सवाल है।

जानकारी के मुताबिक, जैतालूर मार्ग पर स्थित सीआरपीएफ 170 बटालियन कैम्प में मंगलवार की दोपहर आरक्षक मोहन ने इलेक्ट्रिक ब्लेड से गला काटकर आत्महत्या कर ली। साथी जवानों ने मोहन को खून से लथपथ देखा तो घटना की जानकारी आला अधिकारियों को दी।

यह भी पढ़ें :  30 डिप्टी कलेक्टरों को मिली पहली पोस्टिंग, ट्रेनिंग के बाद अब संभालेंगे जिलों की कमान

मोहन के शरीर के कई अन्य अंगों पर भी कटने के निशान थे। घटना के बाद देर शाम जवान के शव को एम्बाबिंग के लिए मेडिकल कालेज डिमरापाल भेजा गया। वहां पीएम के पश्चात जवान के शव को गृह राज्य हरियाणा भिजवाया गया है।

हत्या या आत्महत्या, पुलिस कर रही जांच

कोतवाली थाना प्रभारी शशिकांत भारद्वाज ने बताया कि जैतालूर मार्ग पर स्थित सीआरपीएफ कैम्प में मंगलवार की दोपहर कांस्टेबल मोहन ने अज्ञात कारणों से आत्महत्या कर ली। जवान का शरीर इलेक्ट्रिक ब्लेड से कटा हुआ था। जवान ने आत्महत्या की है या फिर यह हत्या का मामला है, हर दृष्टिकोण से पुलिस जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें :  CM साहब ! मेरी सागौन की लकड़ी दिला दो, पड़ोसी चोरी कर लिया है... पर हमारे कलेक्टर को कुछ मत कहना सर

बताया गया है कि मृतक जवान मूलत: हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले का रहने वाला था। अप्रैल 2009 में उसने सीआरपीएफ में कांस्टेबल के पद पर नौकरी ज्वाइन की थी।

मानसिक रूप से बीमार था जवान

सीआरपीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि जवान पिछले करीब डेढ़ साल से मानसिक रूप से बीमार था। इसलिए उसे कारपेंटर के पद पर तैनात किया गया था। इसी दौरान मंगलवार को उसने यह खौफनाक कदम उठा लिया।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा में एडवेंचर स्पोर्ट्स होगा आकर्षण का केन्द्र, साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने तैयार होगा एडवेंचर पार्क