अखबार के दफ्तर घेराव से पत्रकारों में आक्रोश, जिपं उपाध्यक्ष व ठेकेदार के खिलाफ पत्रकारों ने खोला मोर्चा

59

अखबार के दफ्तर घेराव से पत्रकारों में आक्रोश, जिपं उपाध्यक्ष व ठेकेदार के खिलाफ पत्रकारों ने खोला मोर्चा

दंतेवाडा @ खबर बस्तर। शहर के बस स्टैंड स्थित एक दैनिक अखबार के कार्यालय के घेराव मामले में जिले के पत्रकारों में गहरा आक्रोश है। इस घटना के पीछे जिपं उपाध्यक्ष व ठेकेदार सुभाष सुराना का हाथ होने का दावा करते हुए पत्रकारों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

– कलेक्टर से चर्चा करते पत्रकार

इस मसले को लेकर जिले के पत्रकारों ने कलेक्टर दीपक सोनी और एसपी डाॅ पल्लव से मुलाकात की और ठेेकेदार सुभाष सुराना द्वारा कराए जा रहे समस्त निर्माण कार्यों की जांच करने की मांग की है। पत्रकारों की मांग पर दोनों अफसरों ने उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

Read More:

‘वायरल ब्वॉय’ सहदेव को Indian Idol से आया फोन… सिंगिंग रियालिटी शो में दिखेगा बस्तर का टैलेंट! https://t.co/PkBkEJE9Io

 

यह भी पढ़ें :  सुकमा के सौन्दर्य में लग रहे चार चांद, 3000 फूल-पौधों से सजेगा गौरवपथ… जनप्रतिनिधियों व अफसरों ने किया पौधरोपण

गौरतलब है कि शुक्रवार की दोपहर सुभाष सुराना के इशारे पर कुछ लोगों ने अखबार के दफ्तर का घेराव किया था। इससे पहले ये सारे लोग सुभाष सुराना के घर पहुंचे थे, यही से इस घटनाक्रम की रूपरेखा तैयार की गई थी। इस घटना से पत्रकारों में गुस्सा तो है ही वहीं सुराना के इस कृत्य की जमकर भर्तस्ना की जा रही है।

काॅल डिटेल खंगालेंगे- एसपी

प्रेस कार्यालय के घेराव को एसपी डाॅ अभिषेक पल्लव ने गलत बताया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में संबंधित ठेकेदार के कॉल डिटेल खंगाले जायेंगे। काल डिटेल में इस घेराव से संबंधित तथ्य मिलने पर न्यायोचित कार्रवाई की जायेगी। एसपी ने आगे कहा कि जिले के पत्रकार स्वतंत्र है और उनकी स्वतंत्रता का हनन किसी भी सूरत में नहीं होने दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें :  कोरोना से नहीं टाइफाइड से हुई थी नक्सली कमांडर की मौत... माओवादियों ने प्रेस नोट जारी कर दी जानकारी
– पत्रकारों की सुरक्षा का एसपी ने दिलाया भरोसा

पत्रकारों को मिलेगी सुरक्षा

इधर, घेराव की घटना की जानकारी मिलने के बाद एसपी डाॅ पल्लव ने बस स्टैंड स्थित प्रेस कार्यालय में सुरक्षा मुहैया कराई है। उन्होने शनिवार की सुबह से ही कार्यालय के आसपास सुरक्षाकर्मियों को तैनात कर दिया है। एसपी ने यह भी कहा कि जब भी पत्रकारों से ऐसा लगता है कि उन्हें सुरक्षा की जरूरत है, हम सुरक्षा देने के लिए तत्पर हैं।

पत्रकार विकास के सहभागी हैं- सोनी

पत्रकारों से मुलाकात के दौरान कलेक्टर दीपक सोनी ने पत्रकारों को विकास का सहभागी बताते उनके सुरक्षा की संपूर्ण जिम्मेदारी ली है। कलेक्टर ने कहा कि जिले के किसी भी पंचायत में कवरेज के दौरान कोई परेशानी हो तो इसकी जानकारी तत्काल प्रशासन को दें। ऐसे मामलों में त्वरित कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें :  बाढ़ का कहर: एक हफ्ते से टापू बना य​ह गांव, राशन और दवा लेकर पहुंचे अफसर... गांव तक जाने बोट ही एकमात्र सहारा
– कलेक्टर को सौंपा गया ज्ञापन

कलेक्टर सोनी ने कहा कि जिले के सारे पंचायतों में जाकर पत्रकार निःसंकोच रिपोर्टिंग कर सकते हैं। किसी भी पंचायत में सचिव या सरपंच द्वारा किसी पत्रकार को समाचार संकलन के दौरान परेशान किया जाता है तो इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Read More:

आधार कार्ड बनाने ‘अंदर’ से भी मिल गई हरी झण्डी ! शिविरार्थियों के लिए प्रशासन लगा रहा खास कैम्प https://t.co/csdr7tat6p

— Khabar Bastar (@khabarbastar) July 31, 2021

 

इधर, पत्रकारों ने जिला प्रशासन से चर्चा के दौरान कहा कि यदि 15 दिनों के भीतर इस मामले में संतोषप्रद कार्रवाई नहीं होती है तो जिले ही नहीं बल्कि प्रदेश भर में पत्रकार सड़कों पर उतरेंगे। पत्रकारों ने इस मामले को लेकर आगामी दिनों में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।