तेंदुए की खाल का बिस्तर बना सोता था शिक्षक, वन विभाग की टीम ने घर में दबिश देकर खाल किया बरामद

90

तेंदुए की खाल का बिस्तर बना सोता था शिक्षक, वन विभाग की टीम ने घर में दबिश देकर खाल किया बरामद

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। जिले में वन्य प्राणियों की तस्करी का खेल लंबे समय से चोरी छिपे चल रहा है। वन विभाग की टीम ने दंतेवाड़ा के पातररास इलाके में दबिश देकर एक शिक्षक के घर से तेंदुए की खाल बरामद की है।

मुखबिर से मिली सूचना के बाद वन विभाग के अमले ने उक्त कार्रवाई की और मौके से तेंदुए की खाल को जब्त कर लिया। एसडीओ अशोक सोनवानी ने बताया कि पातररास निवासी शिक्षक संतोष जायसवाल ने अपने ही घर पर तेंदुए की खाल को छिपा रखा था।

यह भी पढ़ें :  'शिक्षक की हत्या हमने नहीं की'... नक्सलियों ने जारी किया पर्चा, परिजनों से की ये अपील!

बता दें कि आरोपी शिक्षक संतोष जायसवाल दंतेवाड़ा के भोगाम स्थित प्राथमिक विद्यालय में पदस्थ है। करीब सालभर पहले उसने 25 हजार में तेंदुआ की खाल तस्करी के नीयत से खरीदी थी। जिसे वह जल्द ही बेचने की तैयारी में था लेकिन इससे पहले वन महकमे ने दबिश देकर खाल को जब्त कर लिया।

खाल की बिस्तर पर सोता था आरोपी

एसडीओ अशोक सोनवानी का कहना है कि आरोपी शिक्षक तेंदुए की खाल को ही सोने का बिस्तर बनाया हुआ था। अंधविश्वासी शिक्षक का दावा था कि ऐसा करने से मनोकामना पूरी होती है। वहीं मनोकामना पूर्ण होते ही वह इसे बेच देता। इधर, शिक्षक को खाल बेचने वाले की धरपकड़ में भी वन विभाग जुट गया है।

यह भी पढ़ें :  मनवा बीजापुर: युवाओं को गाइडेंस और तरक्की की कदमताल... व्हालीबाॅल के उद्घाटन मैच में गंगालूर ने मारी बाजी

Read More: