इस्तीफे पर बोले सिंहदेव- पत्र लिखने से पहले मैंने CM को फोन किया था, पर… पुनिया जी ने भी फोन नहीं उठाया

1872
Minister TS Singhdev gave statement on resignation

इस्तीफे पर बोले सिंहदेव- पत्र लिखने से पहले मैंने CM को फोन किया था, पर… पुनिया जी ने भी फोन नहीं उठाया

रायपुर @ खबर बस्तर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री टीएस सिंहदेव द्वारा इस्तीफे की पेशकश किए जाने के बाद छत्तीसगढ़ में सियासी बवाल मच गया है। कांग्रेसी खेमे में ही उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग तेज हो गई है।

रविवार को सीएम हाउस में हुई विधायक दल की बैठक से भी सिंहदेव ने दूरी बना ली थी। इस बैठक में कई विधायकों व मंत्रियों ने सिंहदेव द्वारा इस्तीफे की चिट्ठी में उठाए गए मुद्दों को अनुशासनहीनता बताते हुए कार्रवाई की मांग भी की।

यह भी पढ़ें :  पुलिस के 5 जवान निकले कोरोना पॉजिटिव, सुकमा सिटी कोतवाली सील... जिले में आज फिर मिले 10 संक्रमित मरीज

Many ministers-MLAs objected to Singhdev's letter

इस मामले में विधायकों के हस्ताक्षरयुक्त एक पत्र कांग्रेस आलाकमान को दिल्ली भेजा जा रहा है। बताया जा रहा है कि पीएल पुलिया स्वयं इस पत्र को दिल्ली लेकर जाएंगे। कहा जा रहा है कि पत्र में सिंहदेव की शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की गई है।

इधर, इस्तीफे के बाद टीएस सिंहदेव का बयान सामने आया है। टीएस ने कहा कि इस्तीफे का पत्र लिखने से दो दिन पहले उन्होंने सीएम भूपेश बघेल से फोन पर बात उनको अपना पक्ष बताया था।

यह भी पढ़ें :  17 डिप्टी कलेक्टरों का ट्रांसफर, सभी को मिला जनपद CEO का चार्ज

सिंहदेव ने कहा, पत्र लिखने से पहले भी उन्होंने सीएम बघेल को फोन किया। घंटी बजी, लेकिन बात नहीं हो पाई। शायद मुख्यमंत्री जी की कहीं अन्यत्र व्यस्तता थी। इसलिए उनसे बात नहीं हो सकी।Minister TS Singhdev gave statement on resignation

 

पुनिया जी को भी फोन किया था। उस दिन पीसीसी की बैठक थी तो उनका भी फोन नहीं उठा। बाद में उन्होंने फोन किया था, तब उनको पूरी बात बताई। उन्होंने कहा इस पर बात करते हैं।

दिल्ली पत्र भेजने की तैयारी

यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ में UK से लौटे 4 लोग मिले कोरोना पॉजिटिव…विदेश से लौटने के बाद 11 लोगों का मोबाइल स्विच ऑफ‚ खोजबीन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस की मांगी मदद

इधर, कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पार्टी आलाकमान को एक पत्र भेजने पर सहमति बनी। इस चिट्ठी में सरकार पर आरोप लगाने वाला सार्वजनिक पत्र लिखने के लिए टीएस सिंहदेव पर कार्रवाई की मांग की गई है।

बतादें कि इस पत्र में 60 से ज्यादा कांग्रेस विधायकों ने हस्ताक्षर किया है। वहीं जयसिंह अग्रवाल को छोड़कर 10 मंत्रियों के भी हस्ताक्षर हैं। उधर, टीएस सिंहदेव ने भी अपना पक्ष रखने के लिए हाईकमान से मुलाकात का समय मांगा है। वे सोमवार को दिल्ली जा रहे हैं।