बुर्कापाल हमले के लिए नक्सलियों ने केन्द्र व राज्य सरकार को ठहराया जिम्मेदार

33

बुर्कापाल हमले के लिए नक्सलियों ने केन्द्र व राज्य सरकार को ठहराया जिम्मेदार

के. शंकर @ सुकमा। सुकमा जिले के बुर्कापाल क्षेत्र में हुई आईईडी ब्लास्ट की घटना की जिम्मेदारी लेते हुए नक्सलियों ने इस हमले के लिए केन्द्र व राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

दक्षिण सब जोनल ब्यूरो द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि ‘समाधान’ हमले के खिलाफ बुरकापाल एवं चिंतलनार के बीच पीएलजीए द्वारा हमला किया गया। इस हमले में कोबरा 206 बटालियन के असिस्टेंट कमांडेंट शहीद हो गए थे, वहीं 9 जवान घायल हो गए थे।

यह भी पढ़ें :  दिनेश कश्यप का बड़ा बयान, कांग्रेस की सरकार बनी तो कान कटवा लूंगा... दीपक बैज बोले- नाक तो कटवा ही चुके हैं भाजपाई, कान भी कट जाएगी

इस हमले का कारण केन्द्र-राज्य सरकारों की नीति है। बस्तर को पुलिस छावनी में तब्दील करते हुए हजारों अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती की जा रही है। जनता के विरोध के बावजूद बीजापुर जिले के तर्रेम और कमरगुडेम (सुकमा) में नया पुलिस कैम्प खोला गया है।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  तीन मुठभेड़ में 6 नक्सली ढेर, सुकमा में सड़क काटने आए 3 माओवादियों को जवानों ने मार गिराया, हथियार भी बरामद

प्रेस नोट में नक्सलियों ने आरोप लगाया है कि सशस्त्र बलों द्वारा अक्टूबर व नवंबर महीने में 16 वर्ष की नाबालिग कोवासी देवे, सोडी भीमाल और कोरसागुड़ा गांव के विकेश नामक किसान की हत्या की गई है। वहीं सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों को पकड़कर पुलिस इनामी माओवादियों को गिरफ्तार करने का झूठा प्रचार मीडिया में कर रही है।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने ग्रामीणों की बेरहमी से पिटाई की, महिलाओं व बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा... घायलों को अस्पताल में किया गया भर्ती