नक्सलियों ने की सुरक्षा बलों की वापसी की मांग, गंगालूर एवं भोपालपटनम क्षेत्र में फेंके पर्चे

52

नक्सलियों ने की सुरक्षा बलों की वापसी की मांग, गंगालूर एवं भोपालपटनम क्षेत्र में फेंके पर्चे

पंकज दाउद @ बीजापुर। नक्सलियों ने केन्द्र सरकार की नीतियों की मुखालफत करते गंगालूर एवं भोपालपटनम इलाके में पर्चे फेंके हैं और एक से 26 अप्रैल के बीच इसका विरोध करने कहा है। इसके अलावा भगत सिंह का सुखदेव के नाम पत्र को भी विभिन्न स्थानों पर चस्पा किया गया है।

भाकपा माओवादी पष्चिम बस्तर डिविजनल कमेटी की ओर से भोपालपटनम इलाके में फेंके गए पर्चे में बस्तर से अर्धसैनिक बलों को वापस भेजने की मांग को लेकर 1 से 26 अप्रैल तक विरोध करने की बात कही गई है।

यह भी पढ़ें :  धार्मिक स्थल तोड़ने पर लोगों में आक्रोश, कार्रवाई के विरोध में सड़क पर उतरे लोग…हिन्दू संगठनों ने करवाया जिला बंद

आपरेशन प्रहार का मुकाबला करने और जल जंगल व जमीन की लड़ाई जारी रखने भी कहा गया है। मोदी सरकार की दमनकारी नीतियों का विरोध करने भी कहा गया है।

माओवादी पर्चे में कहा गया है कि एक साल में लाॅकडाउन के चलते देष की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है और ये अर्थव्यवस्था नहीं उबर पा रही है।

मोदी सरकार ने किसानों और मजदूरों के हितों का ध्यान नहीं रखा। केन्द्र सरकार आत्मनिर्भर भारत के नाम से देष को गुमराह कर रही है। 366 बड़े कारखानों को निजी हाथों में सौंपने की योजना बनाई जा रही है।

यह भी पढ़ें :  अजीत जोगी ने दंतेवाड़ा कलेक्टर बंगले के सामने डाला डेरा, रात यहीं बिताने की करने लगे जिद... जानिए किस बात पर जताई नाराजगी, पढ़िए पूरी खबर

मोदी सरकार माओवादी आंदोलन को कुचलने का यत्न कर रही है। बघेल और मोदी सरकार बस्तर की संपति को हड़पने जल जंगल और जमीन को हड़पने के लिए ये सब कुछ कर रही है।

इधर, गंगालूर में हाईस्कूल के पास, टोण्डापारा और रेड्डी रोड में भी पर्चे फेंके हैं और एक से छब्बीस अपै्रल तक केन्द्र सरकार की नीतियों का विरोध करने की बात कही है। नक्सलियों ने भगत सिंह का सुखदेव के नाम पत्र को भी पेड़ों में चस्पा किया है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 3 इनामी समेत 16 नक्सलियों ने किया सरेंडर

खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…