नक्सलियों ने गोपनीय सैनिक को उतारा मौत के घाट… गांव से लौटते वक्त पकड़ा और कर दी हत्या

106

नक्सलियों ने गोपनीय सैनिक को उतारा मौत के घाट… गांव से लौटते वक्त पकड़ा और कर दी हत्या

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। जिले के कटेकल्याण इलाके में नक्सलियों ने एक हिंसक वारदात को अंजाम दिया है। माओवादियों ने टेटम गांव के रहने वाले एक गोपनीय सैनिक को मौत के घाट उतार दिया है। यह पूरी घटना बीती रात की है।

मिली जानकारी के मुताबिक, कटेकल्याण थाना क्षेत्र के टेटम गांव में नक्सलियों ने मंगलवार की रात एक युवक की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी है। मृतक का नाम उमेश मरकाम है। वह दंतेवाड़ा में गोपनीय सैनिक के रूप में काम कर रहा था।

यह भी पढ़ें :  गंगालूर के सुरेश की ऊंची उड़ान, इंडियन सॉफ्टबॉल टीम में हुआ चयन... कुआलामंपुर में एशिया कप में दिखेगा बीजापुर का दम

घटना की पुष्टि दंतेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने की है। उन्होंने बताया कि टेटम गांव निवासी उमेश मरकाम अपने गांव से दंतेवाड़ा लौट रहा था। इसी दौरान बीती रात करीब 8 बजे माओवादियों ने उसे जंगल में पकड़ लिया और उसकी हत्या कर दी।

एसपी ने बताया कि टेटम गांव में कैम्प स्थापना के बाद से मृतक उमेश मरकाम पुलिस के लिए बतौर गोपनीय सैनिक काम कर रहा था। संभवत: इसी बात से नक्सली नाराज थे और मौका मिलते ही उन्होंने उसे मार दिया। इस वारदात के पीछे कटेकल्याण एरिया कमेटी का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है।

यह भी पढ़ें :  क्रियाकर्म में गांव गए 2 जवानों पर नक्सलियों ने किया हमला... जख्मी जवान व ग्रामीणों ने मिलकर माओवादियों को भगाया, देसी पिस्टल बरामद

आपको बता दें कि इस इलाके में सुरक्षा बल का कैम्प खुलने के बाद से नक्सली वारदातों में कमी देखी जा रही थी। गोपनीय सैनिक की हत्या कर नक्सलियों ने एक बार फिर अपनी उपस्थिति दर्शाने की कोशिश की है। इधर, घटना की सूचना मिलते ही बुधवार को फोर्स मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाया गया।