नक्सलियों में भी अब कोरोना की दहशत, बैनर में लिखा- कोरोना का संक्रमण रोकने जवानों को दूर भगाओ… ग्रामीणों से की ये अपील !

67

नक्सलियों में भी अब कोरोना की दहशत, बैनर में लिखा- कोरोना का संक्रमण रोकने जवानों को दूर भगाओ… ग्रामीणों से की ये अपील !

कांकेर @ खबर बस्तर। कोरोना महामारी से इस समय पूरी दुनिया जूझ रही है। छत्तीसगढ़ समेत बस्तर संभाग में भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इन सबके बीच अब नक्सलियों को भी कोरोना का भय सता रहा है।

दरअसल, कोयलीबेड़ा इलाके में रविवार को कुछ नक्सली बैनर पोस्टर देखे गए हैं, जिसमें ग्रामीणों से कोविड-19 महामारी से सावधान रहने और बचने के लिए कहा गया है। रावघाट एरिया कमेटी के नाम से यह बैनर लगाए गए हैं। कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र का यह पूरा मामला है।

यह भी पढ़ें :  शहीदी सप्ताह के पहले दिन एनकाउण्टर: नक्सली कैम्प में फोर्स ने बोला धावा, बिज्जू के लाल लड़ाकों के पीछे पड़ी पुलिस

Read More:

 

बता दें कि कोयलीबेड़ा में मेढ़की नदी एनीकट के पास नक्सलियों ने पर्चे फेंके हैं और कुछ जगह पेड़ों पर सफेद कपड़े वाले बैनर बांधे हैं। रविवार की सुबह ग्रामीणों की नजर इन बैनर पर पड़ी।

जवानों पर साधा निशाना

नक्सलियों ने कोरोना के बहाने सुरक्षा बल के जवानों पर भी निशाना साधा है। बैनर में सुरक्षा बलों को वापस उनके मूल स्थान के बैरकों में भेजने की बात लिखी गई है। वहीं पुलिस व अर्ध सैनिक बलों को दूर कर कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने का भी जिक्र किया गया है।

यह भी पढ़ें :  सिलगेर मामले में राज्यपाल उईके ने जताई चिंता, CM भूपेश को लिखा पत्र... कहा- बस्तर में शांति बहाली जरूरी, बुलाएं सर्वदलीय बैठक

बता दें कि कोरोना को लेकर हाल ही में नक्सलियों ने दक्षिण बस्तर इलाके में भी पर्चे फेंके थे। जिसमें इस महामारी से ग्रामीणों को हो रही परेशानी संबंधी बातें लिखी गई थी। यह पहली बार है जब नक्सलियों ने कोरोना को हथियार बनाकर जवानों पर हमला बोला है।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में महिला माओवादी ढेर…पुलिस का दावा, 4-5 नक्सलियों को लगी गोली

दरअसल, कांकेर जिले में 150 से अधिक सुरक्षा बल के जवान अब तक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। जिसकी दहशत अब नक्सलियों में भी देखी जा रही है। माओवादियों ने इशारों में जवानों पर कोरोना संक्रमण फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्हें वापस लौटने को कहा है। इस कवायद के जरिये नक्सली ग्रामीणों के बीच अपनी पैठ एक बार फिर बनाना चाहते हैं।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…