अब खरे ‘मैम’ की खैर नहीं  ! रिश्वतखोरी पर भड़के विधायक, कलेक्टर से कार्रवाई को कहा

70

अब खरे ‘मैम’ की खैर नहीं  ! रिश्वतखोरी पर भड़के विधायक, कलेक्टर से कार्रवाई को कहा

पंकज दाऊद @ बीजापुर। महिला एवं बाल विकास विभाग के भैरमगढ़ सेक्टर की आंगनबाड़ियों में कार्यकर्ताओं की भर्ती के लिए उम्मीदवारों से कथित तौर पर रिश्वत लिए जाने और इसकी मांग किए जाने की तोहमत पर बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं लोकल एमएलए विक्रम शाह मण्डावी ने गहरी नाराजगी जताते कलेक्टर से कार्रवाई करने कहा है।

यह भी पढ़ें :  रोकड़ा चला जाएगा, जमीन नहीं… विधायक मण्डावी बोले, ‘‘कांग्रेस सरकार ने दे दिया भूमिहीनों को हक’’

विधायक विक्रम मण्डावी ने बताया कि भैरमगढ़ की परियोजना आधिकारी प्रियंका किरण खरे, सेक्टर सुपरवाइजर सुशीला नागेश एवं सविता बांधे पर अभ्यर्थियों ने 70-70 हजार रूपए कार्यकर्ता की भर्ती के एवज में लिए जाने और मांगे जाने का आरोप लगाया है।

आरोप है कि अभ्यर्थी कु अंजू कोरसा से पीओ और सुपरवाइजरों ने 15 अगस्त को इसके लिए 70 हजार रूपए लिए। इसके अलावा कु ज्योति नेताम से भी सत्तर हजार रूपए की मांग लगातार की जा रही है। विधायक ने कलेक्टर से कहा है कि भर्ती के लिए रिश्वत के आरोपों से जिले में शासन-प्रशासन की छवि खराब हो रही है।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों को कारतूस सप्लाई करने वाले ASI व हेड कांस्टेबल बर्खास्त, बस्तर IG ने की कार्रवाई

भर्ती प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने और सही तरीके से नियुक्ति के लिए प्रोजेक्ट आफिसर प्रियंका किरण खरे, सेक्टर सुपरवाइजर सुशीला नागेश एवं सविता बांधे पर कार्रवाई के लिए विधायक ने कलेक्टर से कहा है।

जांच कमेटी बनाई जाएगी

कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने कहा कि विधायक से इस बारे में शिकायत मिली है। इसके लिए जांच कमेटी बनाई जा रही है। जांच उपरांत कार्रवाई की जाएगी।

????????????ये Video देखा क्या…

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों की साजिश नाकाम, 201 बटालियन ने बरामद किया 7 किलो का IED… फोर्स को नुकसान पहुंचाने किया गया था प्लांट