स्कूल में अय्याशी करने वाला प्राचार्य सस्पेंड, महिला स्टाफ के साथ कमरे में रंगे हाथ पकड़ाया

3903

स्कूल में अय्याशी करने वाला प्राचार्य सस्पेंड… शादीशुदा महिला स्टाफ के साथ रंगरेलियां मनाते ग्रामीणों ने रंगे हाथ पकड़ा, कलेक्टर ने की कार्रवाई

कांकेर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में शिक्षा के मंदिर को एक प्राचार्य ने अपनी अय्याशी का अड्डा बना डाला। स्कूल की ही एक शादीशुदा महिला स्टाफ के साथ प्रिसिंपल महोदय सालों से रंगरेलियां मना रहे थे।

ग्रामीणों को इसकी भनक लगी तो उन्होंने प्राचार्य को महिला स्टाफ के साथ स्कूल के एक कमरे में रंगे हाथ पकड़ लिया और इसका वीडियो बना डाला। वीडियो वायरल होने के बाद कलेक्टर ने आरोपी प्रिसिंपल को सस्पेंड कर दिया है।

यह भी पढ़ें :  'बचपन का प्यार मेरा भूल नहीं जाना रे...' गाकर इंटरनेट सनसनी बना सुकमा का सहदेव, बॉलीवुड सिंगर बादशाह ने किया Video कॉल, मिलने बुलाया
– आरोपी प्राचार्य।

जानकारी के मुताबिक, कांकेर जिले के इंद्रप्रस्थ गांव के पीवी 39 स्थित हाईस्कूल में पदस्थ प्राचार्य राजेश पाल और मिडिल स्कूल की एक शादीशुदा महिला स्टाफ का सालों से अवैध संबंध है। दोनों छुट्‌टी के दिन में अक्सर स्कूल में मिलते थे। दोनों ने स्कूल में ही रंगरेलियां मनानी शुरू कर दी थी।

कोरोनाकाल में भी जारी थी मटरगश्ती

बताया जा रहा है कि यह सब पिछले 9 सालों से चल रहा था। आरोप है कि दोनों स्कूल में ही संबंध बनाते रहे हैं। दोनों छुट्‌टी के दिन भी स्कूल पहुंचते थे और अंदर जाने के बाद कमरा बंद कर लेते थे। कोरोनाकाल में स्कूल पूरी तरह बंद थे तब भी दोनों स्कूल में देखे जा रहे थे।

यह भी पढ़ें :  सीआरपीएफ DG सहित आला अफसर पहुंचे बुर्कापाल, IED ब्लास्ट में शहीद असिस्टेंट कमांण्डेंट को दी श्रद्धांजलि
– सांकेतिक तस्वीर।

इधर, ग्रामीणों को दोनों की इस करतूत की भनक लग गई थी, लेकिन सबूत के अभाव में वे लाचार थे। इसी बीच एक दिन जब प्रिसिंपल रूम के बगल में स्टोर रूम में दोनों संबंध बना रहे थे तभी किसी ने दोनों का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। यह वीडियो जब प्रशासन के पास पहुंचा तो आरोपी प्राचार्य को निलंबित कर दिया गया।

वीडियो से तूल पकड़ा मामला

प्राचार्य की अय्याशी से गांव वाले परेशान थे। गांव वालों ने स्कूल स्टाफ की बैठक में उन्हें मौखिक रूप से स्कूल छोड़ने भी कहा गया, लेकिन वह बहाने बनाते यहीं डटा रहा।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने अपने सा​थी की बेदम पिटाई की, जान बचाकर थाने पहुंचा पीड़ित माओवादी, पुलिस ने करवाया इलाज

आखिरकार गांव की हो रही बदनामी के बाद ग्रामीणों ने दोनों को रंगे हाथों पकड़ा और दोनों का वीडियो बनाकर 18 अप्रैल को कलेक्टर चंदन कुमार से शिकायत कर दी। कलेक्टर ने जब जांच कराई तो मामला सही निकला।

– वीडियो में दोनों आपत्तिजनक स्थिति में दिख रहे हैं।

जिला शिक्षाधिकारी टीआर साहू ने बताया कि इंद्रप्रस्थ हाईस्कूल में पदस्थ प्राचार्य के खिलाफ शिकायत मिली थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए BEO से इसकी जांच करा कार्रवाई के लिए प्रतिवेदन कलेक्टर को प्रेषित किया गया था। इसके बाद कलेक्टर ने गुरुवार को प्राचार्य को निलंबित कर दिया है।