SDM ने 9 सरपंचों को थमाया नोटिस, किसी ने आवास अधूरे बनाए तो किसी ने बारदाने जमा नहीं किए

45

SDM ने 9 सरपंचों को थमाया नोटिस, किसी ने आवास अधूरे बनाए तो किसी ने बारदाने जमा नहीं किए

पंकज दाउद @ बीजापुर। भोपालपटनम अनुभाग के एसडीएम उमेश पटेल ने 9 सरपंचों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है और दस दिनों में संतोषजनक जवाब मांगा है। किसी सरपंच ने प्रधानमंत्री आवास अधूरे बनाए हैं तो किसी ने बारदाने जमा नहीं किए हैं।

ये नोटिस पंचायत राज अधिनियम की धारा 40 के तहत जारी किए गए हैं। भोपालपटनम ब्लॉक की दम्मूर पंचायत के सरपंच रमेश चिड़ेम को इसलिए नोटिस दी गई है क्योंकि उनकी पंचायत में 2016-17 से 2019-20 तक 41आवास स्वीकृत हुए लेकिन अभी भी 15 आवास अधूरे हैं। मद्देड़ पंचायत में इसी अवधि में 66 आवास मंजूद हुए थे लेकिन 13 आवास अपूर्ण हैं।

उसूर ब्लॉक की मुरकीनार पंचायत के सरपंच नागेश अंगनपल्ली  को इसलिए शो कॉज नोटिस जारी की गई है क्योंकि उनकी पंचायत में 25 आवास नहीं बन पाए हैं। 2016-17 से 2019-20 में इस पंचायत में 51 आवास मंजूर किए गए थे। 

यह भी पढ़ें :  CM की सभा से पहले BJP से मोहभंग‚ फिर 4 सरपंचों ने थामा कांग्रेस का हाथ

Read More:

भोपालपटनम ब्लॉक की पामगल पंचायत के सरपंच नागैया धन्नूर को इस साल धान खरीदी को सुचारू रूप से संचालित रखने के लिए पीडीएस के बारदाने जमा करने का लक्ष्य दिया गया था। भोपालपटनम ब्लॉक में अब तक 78 फीसदी बारदाने जमा हो गए हैं। पामगल की उचित मूल्य की दुकान से सिर्फ 18.78 प्रतिशत बारदाना ही जमा हुआ है। 

भोपालपटनम ब्लॉक की गोटाईगुड़ा पंचायत के सरपंच सीताराम तोड़ेम ने सिर्फ 13.06 फीसदी बारदाने जमा किए हैं। वहीं सरपंच ने अपने निवास में जलवाहित शौचालय नहीं बनाया है। पंचनामा से पता चला है कि पुराने मकान में सरपंच के भाई रहते है और नए मकान जिसमें सरपंच रहते हैं, उसमें जलवाहित शौचालय नहीं है।

यह भी पढ़ें :  CRPF कैम्प में खूनी खेल... आपसी विवाद में जवान ने साथियों पर चलाई गोलियां‚ 1 की मौत, 2 गंभीर

इसके अलावा सरपंच सीताराम तोड़ेम पंद्रह साल से अपूर्ण कला मंच पर काबिज हैं। भोपालपटनम ब्लॉक की कोत्तापल्ली पंचायत की सरपंच कविता कुरसम को इसलिए नोटिस जारी की गई है क्योंकि उन्होंने उचित मूल्य की दुकान से सिर्फ 26.75 प्रतिषत बारदाना जमा करवाया है। 

इसी तरह उसूर ब्लॉक की तर्रेम पंचायत के सरपंच कुसुम अवलम ने मात्र 23.31 प्रतिशत बारदाना जमा करवाया है जबकि इस ब्लॉक में 74.19 पीडीएस बारदाने जमा किए गए हैं। उसूर ब्लॉक की पामेड़ पंचायत के सरंपच गनपत बीराबोइना ने 14.51 फीसदी बारदाने जमा कराए हैं।

यह भी पढ़ें :  कश्मीर में धारा 370 हटाने पर ABVP ने आतिशबाजी कर मनाया जश्न...मिठाई बांट किया खुशी का इज़हार

यह भी पढ़िए…

 

उसूर के सरपंच मनोज गटपल्ली ने 29.27 फीसदी बारदाने जमा किए हैं। वहीं उनकी पंचायत में तीन साल में 16 आवास मंजूर किए गए थे लेकिन पांच अभी भी अपूर्ण हैं। एसडीएम उमेश पटेल ने कहा है कि बारदाने जमा नहीं किए जाने से धान खरीदी के विषय में बनाई गई स्कीम के हितग्राहियों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की आशंका है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…


खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…