स्याह अंधेरेेे में अफसरों ने जान की बाजी लगा 3 मरीजों की बचाई जिंदगी… SDRF की टीम ने बाढ़ में फंसे मरीजों को सुरक्षित निकाला

29
SDRF team rescued patients stranded in flood

स्याह अंधेरेेे में अफसरों ने जान की बाजी लगा 3 मरीजों की बचाई जिंदगी… SDRF की टीम ने बाढ़ में फंसे मरीजों को सुरक्षित निकाला

पंकज दाऊद @ बीजापुर। अपनी जान की परवाह किए बिना प्रशासनिक अमले ने तीन घंटे चले रेस्क्यू आपरेशन के बाद भोपालपटनम ब्लाॅक के कोंगूपल्ली गांव में आखिरकार तीन मरीजों को नदी के पार लाया और उनकी जान बचाई।

SDRF team rescued patients stranded in flood

खास बात यह है कि अफसरों ने स्याह अंधकार के बाद भी रेस्क्यू आपरेशन पर विराम नहीं लगाया क्योंकि उन्हें बीमार लोगों को हर सूरत में बचाना था। कलेक्टर रितेश अग्रवाल के निर्देश पर ये आपरेशन चालू किया गया और लोगों की जिंदगियां बचीं।

यह भी पढ़ें :  बाढ़ का पानी उतरा, दर्द का ज्वार चढ़ा... गोण्डवाना कमेटी ने बाढ़ प्रभावितों को दिए सामान

Read More:

 

बताया गया है कि कोंगूपल्ली में ये आपरेशन शुक्रवार की शाम करीब 5 बजे शुरू हुआ जो रात करीब 8 बजे तक चला। सात बजे अंधेरा छा गया। फिर भी अफसरों ने हार नहीं मानी। उन्होंने बोट की व्यवस्था की और बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित ​निकाला।

यह भी पढ़ें :  नक्सलगढ़ में पहला केस: महिला ने 3 बच्चों को दिया जन्म, बच्चे डाॅक्टर्स की निगरानी में ICU में भर्ती

बताया गया है कि नदी पार गांव में कमला सकनी व सम्बईया सण्ड्रा को पैरालिसिस की शिकायत है जबकि सत्यम सकने को हाइपर टेंशन और बीपी। तीनों को रेस्क्यू कर हाॅस्पिटल में भर्ती कराया गया। इस टीम का नेतृत्व एसडीएम उमेश पटेल ने किया।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  जगदलपुर में आयकर विभाग की छापामार कार्रवाई से हड़कंप, एक साथ 4 ठिकानों पर मारा रेड, कार्रवाई जारी

इस दौरान सीएमएचओ डाॅ बीआर पुजारी, जनपद सीईओ व डिप्टी कलेक्टर मनोज कुमार बंजारे, एसडीओपी अभिषेक सिंह, तहसीलदार शिवनाथ बघेल, बीएमओ अजय रामटेके केे अलावा डाॅक्टर्स एवं जवान मौजूद थे। रेस्क्यू आपरेशन में राजस्व, होमगार्ड, पंचायत, स्वास्थ्य एवं पुलिस अमले का अच्छा तालमेल था।

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…