पहली बीवी से तलाक, दूसरी का मर्डर, तीसरी के साथ जेल… आरोपी पति-पत्नी गिरफ्तार

2575

पहली बीवी से तलाक, दूसरी का मर्डर, तीसरी के साथ जेल… शख्स ने 13 साल में की 3 शादियां, पत्नी की हत्या कर जंगल में शव को लगा दी थी आग

कांकेर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में जंगल में मिली महिला की अधजली लाश मामले की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने महिला की हत्या के आरोप में पति-पत्नी को गिरफ्तार किया है।

आरोपी ने अपनी तीसरी बीवी के साथ मिलकर दूसरी पत्नी का कत्ल कर दिया था। फिर इसके बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए जंगल में शव को फेंका और आग लगाकर फरार हो गया था। हत्या के आरोपी पति-पत्नी अब पुलिस की गिरफ्त में हैं और जल्द ही जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

– आरोपी पति-पत्नी।

आपको बता दें कि 19 मार्च को कांकेर थाना क्षेत्र के कोकड़ी मार्ग पर एक अज्ञात महिला की अधजली लाश मिली थी। पुलिस ने जांच शुरू की और महिला की शिनाख्त के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। इसी दौरान चरोदा भिलाई से महिला के परिजन कांकेर पहुंचे और उन्होंने शव की पहचान अपनी बेटी पूर्णिमा ग्वाला (38) के रूप में की।

यह भी पढ़ें :  मुठभेड़ में जवान और ग्रामीण घायल, 3 नक्सलियों के मारे जाने का दावा

पति, पत्नी का चल रहा था विवाद

परिजनों ने पुलिस को बताया था कि पूर्णिमा का उसके पति के साथ विवाद चल रहा था। इसी कारण वह मायके आकर रह रही थी। जिस दिन महिला की लाश मिली उसके एक दिन पहले 18 मार्च को पूर्णिमा का पति तुलसीदास मानिकपुरी उसे मायके से लेकर गया था।

परिजनों के बयान के आधार पर कांकेर पुलिस ने तुलसीदास से संपर्क करने की कोशिश की। लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ आ रहा था। पुलिस ने भिलाई, कवर्धा, बेमेतरा, दुर्ग और रायपुर समेत आसपास के जिलों की पुलिस से भी संपर्क किया। कांकेर समेत इन शहरों के CCTV फुटेज भी खंगाले।

ठिकाना बदल रहा था तुलसीदास

पुलिस जांच में पता चला कि तुलसीदास अपनी पत्नी पूर्णिमा को एक सफारी कार में बिठाकर गुरूर की तरफ गया था। आरोपी के बारे में मिले इस सुराग के बाद पुलिस लगातार उसकी लोकेशन ट्रेस कर रही थी। तुलसीदास बार-बार अपना ठिकाना बदल रहा था और दूसरे नंबरों से अपने करीबियों से बात कर रहा था।

यह भी पढ़ें :  बस्तर में फिर एक जवान ने की खुदकुशी, CRPF जवान ने खुद को मारी गोली, मौके पर हुई मौत
– पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

कांकेर पुलिस उसकी ताक में थी और आरोपी की हर गतिविधि पर पैनी नजर बनाए हुए थी। लगातार नजर रखने के बाद पुलिस ने आरोपी युवक को उसकी तीसरी पत्नी इंद्राणी मानिकपुरी के साथ रायपुर से गिरफ्तार कर लिया।

3 शादियां कर चुका है आरोपी

बताया जा रहा है कि आरोपी युवक ने पिछले 13 सालों में तीन शादियां की हैं। पहली पत्नी से तलाक लेने के बाद इसने पूर्णिमा के साथ दूसरी शादी की थी। वहीं दिसंबर 2021 में उसने इंद्राणी से भी ब्याह कर लिया। इसी बात को लेकर पूर्णिमा और तुलसीदास के बीच विवाद बढ़ने लगा था।

गिरफ्तारी के बाद जब कांकेर पुलिस ने दोनों आरोपी पति-पत्नी से पूछताछ की तो युवक ने बताया कि वह इंद्राणी से प्यार करने लगा था। दिसंबर 2021 में दोनों ने शादी भी कर ली थी। पूर्णिमा को इसके बारे में पता चला तो दोनों के बीच काफी विवाद होने लगा। वह घर छोड़कर मायके चली गई थी।

यह भी पढ़ें :  पूर्व मंत्री पर काग्रेस का पलटवार, कहा 'सियासी रोटी सेंकने में लगे'

ऐसी रची हत्या की साजिश

रोज के विवाद को खत्म करने के लिए तुलसीदास ने पूर्णिमा की हत्या करने का फैसला लिया। ‘इंद्राणी से दूर हो गया हूं’ कहकर वह पूर्णिमा को उसके मायके से वापस लेकर आया। फिर गुरूर में अपने घर में ही इंद्राणी के साथ मिलकर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी।

Sensation after finding half-burnt body of a woman on the roadside
– कांकेर के जंगल में मिली थी महिला की अधजली लाश।

पत्नी की हत्या करने के बाद शव को ठिकाना लगाने के लिए तुलसीदास सफारी वाहन में शव को लेकर कांकेर जिले की तरफ आया। यहां जंगल में लाश को फेंक कर डीजल छिड़कर आग लगा दिया और दोनों पति-पत्नी वहां से भाग निकले थे।