डाॅक्टर की मौत के बाद सखी सेंटर कलेक्टोरेट में शिफ्ट, नर्सों को होम क्वारेंटाइन किया गया

39

#डाॅक्टर की #मौत के बाद #सखी सेंटर कलेक्टोरेट में #शिफ्ट, #नर्सों को होम #क्वारेंटाइन किया #गया

पंकज दाऊद @ बीजापुर। यहां हाॅस्पिटल के समीप महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से संचालित सखी वन स्टाॅप सेंटर को गुरूवार को कलेक्टोरेट में अस्थायी तौर पर शिफ्ट कर दिया गया है। सेंटर से लगे सरकारी आवास में डाॅक्टर की तीन दिन पहले हुई मौत और यहां रहने वाली नर्सो को होम क्वारेंटाइन किए जाने के बाद ऐहतियातन ऐसा कदम उठाया गया है।

यह भी पढ़ें :  अजीत जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ में 3 दिन का राजकीय शोक घोषित...सीएम भूपेश बघेल ने दी श्रद्धांजलि, बोले- प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हाॅस्पिटल के सामने नगरपालिका के भवन में सखी वन स्टाॅप सेंटर का संचालन हो रहा है। तीन दिन पहले इससे सटे एक सरकारी आवास में एक डाॅक्टर की कोरोना से मौत हो गई। इसके चलते सखी सेंटर के आसपास सरकारी आवास में रहने वाली नर्सों को भी होम क्वारेंटाइन कर दिया गया।

महिला एवं बाल विकास विभाग ने ऐहतियात के तौर पर सखी सेंटर को बुधवार को सेनेटाइज करवाया। इसके बाद सखी सेंटर को बंद कर दिया गया। यहां छह कर्मचारी कार्यरत हैं और कुछ नगर सैनिकों की भी ड्यूटी यहां दो शिफ्ट में लगती हैं।

यह भी पढ़ें :  कोरोना से जंग: जिले में गुटखा, तम्बाखू एवं गुड़ाखू पर लगा प्रतिबंध, उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई

Read More:

 

इस सेंटर में घरेलू हिंसा या किसी तौर पर पीड़ित महिलाओं को शरण दी जाती है। अभी कर्मचारी कलेक्टोरेट के एक कमरे में कार्यालय का संचालन कर रहे हैं। समझा जाता है कि करीब 14 दिनों तक इसे स्थायी तौर पर यहां संचालित किया जाएगा।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  बस्तर में आज फिर मिला कोरोना पॉजिटिव मरीज, अब जिले में 2 एक्टिव केस