RSS कार्यकर्ता हत्याकांड मामले की जांच के लिए SIT गठित, सूचना देने वाले को ₹ 5 हजार इनाम की घोषणा

35
SIT set up to investigate RSS worker murder case

कांकेर @ खबर बस्तर। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता दादू सिंह कोरटिया हत्या कांड मामले की जांच के लिए पुलिस द्वारा एसआईटी का गठन किया गया है। इस जांच टीम में जिला पुलिस के आला अधिकारी शामिल किए गए हैं।

यह भी पढ़ें : नक्सलियों ने पर्चे फेंक सुनाया फरमान, इस विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को सजा देने का किया ऐलान… जानिए पूरा मामला !

कांकेर पुलिस अधीक्षक कन्हैया लाल ध्रुव ने एसआईटी के गठन के साथ ही इस हत्याकांड से जुड़े आरोपियों के संबंध में किसी भी तरह की जानकारी देने वालों को ₹ 5000 नगद पुरस्कार देने की भी घोषणा की है।

यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ के 4 जिलों में नए SDM कार्यालय और 23 नई तहसीलें... CM भूपेश बघेल ने किया शुभारंभ

बताया गया है कि इस बारे में सूचना स्वयं आकर अथवा गोपनीय तरीके से भी दी जा सकती है। वहीं पत्र के माध्यम से भी आरोपियों के बारे में पुलिस को सूचना दी जा सकती है।

यह भी पढ़ें: फर्जी नक्सली बनकर बस में आगजनी व लूटपाट करने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार… सस्पेंड आरक्षक और दो जवानों ने मिलकर दिया था वारदात को अंजाम, एक आरोपी फरार

SIT set up to investigate RSS worker murder case

बता दें कि बीते महीने 27 अगस्त को दुर्गुकोंदल थाना क्षेत्र के कोंडेगांव में आरएसएस कार्यकर्ता दादू सिंह कोरटिया (40) की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मौके पर नक्सली पर्चे भी मिले थे जिसमें कश्मीर में धारा 370 हटाने का विरोध किया गया था।

यह भी पढ़ें :  बस्तर में अगले 24 घंटों में हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर सतर्कता बरतने दिए निर्देश

SIT set up to investigate RSS worker murder case

Read More :  दंतेवाड़ा उपचुनाव: चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे जवान… अर्धसैनिक बलों का छत्तीसगढ़ पहुंचना शुरू, जानिए कितने जवानों की होगी तैनाती !

इन पर्चों में उल्लेखित था कि भाजपा और आरएसएस की गतिविधियां आदिवासी और दलित विरोधी हैं। संघ कार्यकर्ता दादू सिंह कोरटिया ऐसे संगठन से जुड़कर अपनी गतिविधियां चला रहा था। इसलिए यह सजा दी गई है। पर्चे में भाजपा और आरएसएस कार्यकर्ताओं को धमकी भी दी गई थी।

यह भी पढ़ें :  SRK ने कोरोना की लड़ाई के लिए भिजवाई मदद, छत्तीसगढ़ को दिए 2 हजार PPE किट्स... CM भूपेश ने कहा- शुक्रिया

यह भी पढ़ें : पेड़ पर लटकी मिली आरक्षक की लाश, 15 दिन से ड्यूटी से नदारद था जवान

गौरतलब है कि इस हत्याकांड में पांच आरोपी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस के मुताबिक आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या में 8-10 अन्य आरोपी भी हैं, जो फिलहाल फरार बताए जा रहे हैं।


ख़बर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए….