बस्तर में विशेष पुलिस बल का होगा गठन, संवेदनशील इलाके के स्थानीय युवाओं की होगी भर्ती… जेल में बंद आदिवासियों की रिहाई मामले की हर माह हो समीक्षा: CM भूपेश बघेल

60
Special police force will be formed in Bastar

बस्तर में विशेष पुलिस बल का होगा गठन, संवेदनशील इलाके के स्थानीय युवाओं की होगी भर्ती… जेल में बंद आदिवासियों की रिहाई मामले की हर माह हो समीक्षा: CM भूपेश बघेल

रायपुर @ खबर बस्तर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित पुलिस विभाग की समीक्षा बैठक में बस्तर विशेष बल के गठन के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए त्वरित कार्रवाई की जाए।

Special police force will be formed in Bastar

इस विशेष बल में बस्तर के संवेदनशील क्षेत्रों की ग्राम पंचायतों के स्थानीय युवाओं की भर्ती की जाएगी, जिससे स्थानीय लोगों को राहत मिलेगी। पुलिस मुख्यालय द्वारा विशेष बल के गठन का प्रस्ताव तैयार कर जल्द ही शासन को भेजा जाएगा। बैठक में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू भी उपस्थित थे।

Read More: मास्क नहीं पहनने पर रोका तो पुलिसवालों पर चढ़ा दी कार… ASI और कांस्टेबल घायल, दो आरोपी गिरफ्तार

यह भी पढ़ें :  हेडमास्टर का गला रेतकर हाथ में पकड़ा दिया चाकू, सलाखों के पीछे पहुंचा आरोपी

मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर अंचल की कठिन भौगोलिक परिस्थितियां और स्थानीय भाषा की जानकारी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। यदि अंदरूनी गांवों के युवाओं की बल में भर्ती की जाएगी तो पुलिस का काम और ज्यादा आसान हो जाएगा।

आदिवासियों की रिहाई के लिए तेजी से कार्रवाई

सीएम ने कहा कि पटनायक समिति के माध्यम से छोटे-छोटे प्रकरणों में जेल में बंद आदिवासियों की रिहाई के लिए तेजी से कार्रवाई की जाए। हर माह इन प्रकरणों की वापसी की समीक्षा की जाए। बैठक में बताया गया कि पटनायक समिति के समक्ष 625 प्रकरण प्रस्तुत किए गए थे, जिनमें 404 प्रकरणों में समिति ने अनुशंसा की है। न्यायालय से 206 प्रकरण निराकृत किए गए हैं।

Read More: 

इसी तरह मुख्यमंत्री ने चिटफण्ड कम्पनियों के प्रकरणों को तेजी से निराकृत कर संबंधित लोगों को राशि की वापसी की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। बैठक में जानकारी दी गई कि चिटफण्ड से संबंधित 17 प्रकरणों में नीलामी की कार्यवाही कर 9 करोड़ 4 लाख 40 हजार 220 रूपए शासन की खाते में जमा किया गया है।

यह भी पढ़ें :  भरी बारिश में डीआरजी के जवानों ने नक्सली कैम्प में किया अटैक... 2 माओवादी ढेर, हथियार बरामद

पुलिसकर्मियों की तारीफ

सीएम बघेल ने समीक्षा बैठक में कहा कि कोरोना काल में पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सराहनीय कार्य किया है, जिसकी हर तरफ प्रशंसा की जा रही है। इस संकट काल में आम जनता के बीच पुलिस की अच्छी छवि बनी है।

Read More: इस जिले के SP और एडिशनल SP को हुआ कोरोना… एक ही दिन दोनों IPS अफसरों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

यह भी पढ़ें :  चित्रकोट उपचुनाव में राजमन बेंजाम होंगे कांग्रेस उम्मीदवार, पार्टी ने नाम पर लगाई मुहर

मुख्यमंत्री ने सीमावर्ती राज्यों से शराब की तस्करी और सट्टे पर कठोरता के साथ अंकुश लगाने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित दुर्गम क्षेत्रों में प्री फेब्रिकेटेड पुल-पुलिया बनाए जाएं।

Read More: 

बैठक में मुख्य सचिव आरपी मंडल, अपर मुख्य सचिव गृह सुब्रत साहू, डीजीपी डीएम अवस्थी, पुलिस महानिदेशक जेल संजय पिल्ले, विशेष पुलिस महानिदेशक आरके विज और अशोक जुनेजा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अरूण देव गौतम, पवन देव और हिमांशु गुप्ता सहित पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…