नक्सल मोर्चे पर तैनात जवानों को मिलेगा खास हथियार, अंधेरे में भी लगा सकेंगे अचूक निशाना

871

अत्याधुनिक ‘स्नाइपर राइफल’ से होगा लाल आतंक से मुकाबला… नक्सल मोर्चे पर तैनात जवानों को मिलेगा खास हथियार, अंधेरे में भी लगा सकेंगे अचूक निशाना

रायपुर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ मुकाबले के लिए अत्याधुनिक ‘स्नाइपर राइफल’ का इस्तेमाल किया जाएगा। नक्सल मोर्चे पर तैनात सुरक्षा बल के जवान जल्द ही इस अत्याधुनिक वैपन से लैस होंगे।

दरअसल, नक्सलियों से निपटने के लिए इस हथियार को मंगाने की कवायद चल रही है। इससे लैस होने के बाद सुरक्षा बल के जवानों को न सिर्फ दिन में, बल्कि रात के अंधेरे में भी नक्सलियों से मुकाबला करने में आसानी होगी।

यह भी पढ़ें :  किसानों को कर्ज में डूबोने आमादा भूपेश सरकार- गागड़ा... धान खरीदी में एक माह विलंब, बारदानों की भी कमी

स्नाइपर राइफल के इस्तेमाल से रात के समय सर्चिंग के दौरान मुठभेड़ करना बेहद आसान होगा। फिलहाल ऐसे 100 स्नाइपर राइफल जवानों को उपलब्ध कराने की कवायद शुरू हो गई है। बताया गया है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय से सहमति मिलने के बाद हथियार मंगाने की प्रक्रिया चल रही है।

अंधेरे में टारगेट करना आसान

इस वैपन की खासियत यह होगी कि अंधेरे में भी करीब आधा किलोमीटर दूर बैठे दुश्मन पर जवान अचूक निशाना साध सकेंगे। इसमें पॉवरफुल दूरबीन लगा होता है, जिसकी मदद से जवान न सिर्फ टारगेट को देख सकेंगे, बल्कि उन्हें धराशायी भी कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें :  सात माह से ड्यूटी से नदारद पटवारी पर गिरी गाज, SDM ने सेवा से किया मुक्त

जानकारों के मुताबिक स्नाइपर राइफल लंबी दूरी और नजदीकी लड़ाई में बेहद कारगर होता है। इस हथियार में रात के अंधेरे में टारगेट को साफ देखने की क्षमता होती है, जिससे आसानी से टारगेट पर गोली चलाई जा सकती है।

आपको बता दें कि नक्सल मोर्चे पर तैनात जवानों को सर्चिंग के दौरान घने जंगलों, पहाड़ों व दुर्गम इलाको में जाना होता है। जवान जब जंगलों में पहुंचते हैं तो उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जबकि इसके मुकाबले नक्सली ज्यादा मुफीद जगह पर होते हैं। ऐसे में जवानों को नुकसान की ज्यादा आशंका रहती है।

यह भी पढ़ें :  कोरोना के खतरे के बावजूद सुधरने का नाम नहीं ले रहे लोग... अब तक 3 लाख रूपए का वसूला गया अर्थदण्ड