मंदिर की भूमि पर उप सरपंच ने किया कब्जा… पुलिस ने ग्रामीणों के खिलाफ ही दर्ज कर दिया FIR, गांव वालों का फूटा गुस्सा

929

मंदिर की भूमि पर उप सरपंच ने किया कब्जा… आरोपी को छोड़ पुलिस ने ग्रामीणों खिलाफ ही दर्ज कर दिया FIR, गांव वालों का फूटा गुस्सा

जगदलपुर @ खबर बस्तर। उप सरपंच द्वारा मंदिर की भूमि पर अवैध कब्जे को लेकर गांव वाले आक्रोशित हैं। मामला ग्राम माड़पाल का है। गांव वाले उप सरपंच की इस करतूत से खासे नाराज हैं और इसका पुरजोर विरोध कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम माड़पाल के उप सरपंच कैलाश नेताम द्वारा गांव के ऐतिहासिक मंदिर के जमीन पर कब्जा कर सड़क बनाया जा रहा था जिसे लेकर गांव वाले काफी आक्रोशित हैं। दरअसल, उपसरपंच कैलाश द्वारा भू माफियाओं के साथ मिलकर मंदिर के पीछे स्थित जमीन में अवैध प्लाटिंग करवा जा रहा है। जिसे लेकर ग्रामीणों ने खुले तौर पर विरोध दर्ज कराया है।

बताया जा रहा है कि उपसरपंच मुख्य सड़क से पीछे तक की जमीन तक पहुंचने सड़क बनवा रहा था। गांव वालों को जब इस बात की जानकारी मिली तो वे इसके विरोध में उतर आए और उस सरपंच के खिलाफ लामबंद हो गए।

यह भी पढ़ें :  इस बरस कुछ कम बरसे बादल, जून में 113 मिमी कम हुई बारिश... मोबाइल एप से जुड़े 4457 किसान, खेती की जानकारी खेत तक

बीते 17 फरवरी को उप सरपंच कैलाश नेताम और गांव वालों के बीच विवाद भी हुआ। मामला थाने तक भी पहुंचा लेकिन नगरनार पुलिस ने गांव वालों के आवेदन को स्वीकार नहीं किया और उल्टे कैलाश नेताम की बात सुनते हुए गांव वालों के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज कर दिया गया।

पुलिस की कार्रवाई पर सवाल

पुलिस के इस रवैये को लेकर ग्राम पंचायत माड़पाल के लोग काफी आक्रोशित हैं। शनिवार को बड़ी संख्या में गांववासी मंदिर परिसर में उपस्थित हुए और एक स्वर में उप सरपंच के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। गांव वाले पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल उठाने लगे हैं।

यह भी पढ़ें :  भगवान के जयकारे के साथ CMHO को लगा पहला टीका…
3500 फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहले लगेगी वैक्सीन, 100 में ही टीके लॉक किए जाएंगे !

गांव के मुरली मनोहर दास, जयराम नाग, गणेश यादव, फ़ारसु राम, महेश सहारे, जगरन्नाथ मानिकपुरी, रमेश, कुलपति, बलीराम दास और अन्य लोगों का कहना है कि जब पूरे गांववाले कैलाश नेताम के खिलाफ एफआईआर की मांग करने पहुंचे थे तब उनकी बात क्यों नहीं सुनी गई। जबकि देर शाम कैलाश नेताम की बात सुनते हुए उल्टे गांव वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दिया गया।

गांव के लोगों ने बताया कि कैलाश नेताम भू माफियाओं के साथ मिलकर गांव की जमीनों को सस्ते भाव में लेकर ऊंची कीमत पर बेच रहा है। इसका विरोध करने पर शहर से असामाजिक तत्वों को बुलाकर गांव के लोगों के साथ मारपीट भी करता है।

ग्रामीणों का कहना है कि किसानों द्वारा जमीन नहीं बेचे जाने पर उप सरपंच उन पर झूठे मुकदमे भी दर्ज करवाता है। इससे त्रस्त होकर गांव वालों ने उपसरपंच के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

यह भी पढ़ें :  कोविड हाॅस्पिटल की व्यवस्था सुधरी, सुबह 9 बजे मिला मरीजों को नाश्ता... अब तक 187 हुए डिस्चार्ज, शुक्रवार को 16 संक्रमितों को मिली छुट्टी

ऐतिहासिक देवी मंदिर की जमीन को भी कैलाश नेताम ने शहर के लोगों को विक्रय कर दिया है और मंदिर के बीचों बीच की जमीन पर सड़क का निर्माण करवा रहा था। विरोध करने पर उलटे गांव वालों के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज करवा दिया।

ग्रामीणों के भारी विरोध के बाद पुलिस द्वारा उपसरपंच कैलाश नेताम, संजय नाग, अरुण नेताम, धनपति बाघ व एक अन्य खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। नगर पुलिस अधीक्षक हिमसागर सिदार ने कहा की दोनों पक्षों के आवेदन पर 294, 506, 34 भादवि के तहत काउण्टर रिपोर्ट दर्ज कर लिया है। मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।