आदिवासी नेता बोले, ‘सब इंजीनियर को जल्द मुक्त करें नक्सली’… एड़समेटा और सारकेगुड़ा के पीड़ितों के लिए न्याय की मांग

115

आदिवासी नेता बोले, ‘सब इंजीनियर को जल्द मुक्त करें नक्सली’… एड़समेटा और सारकेगुड़ा के पीड़ितों के लिए न्याय की मांग

पंकज दाऊद @ बीजापुर। जिले के आदिवासी नेताओं ने 5 दिन पहले अपहृत पीएमजीएसवाय के सब इंजीनियर अजय रौशन लकड़ा की रिहाई की अपील नक्सलियों से करते कहा है कि वे अपने ड्यटी पर थे और उनका कोई कुसूर नहीं है। परिवार और विभाग के लोगों की चिंता को देखते उन्हें जल्द छोड़ दिया जाना चाहिए।

– आदिवासी नेताओं ने की बैठक।

यहां बिरसा मुण्डा की जयंती पर गोण्डवाना भवन में आदिवासी नेताओं की बैठक हुई। इसमें विभिन्न विषयों पर चर्चा हुई। आदिवासी नेताओं ने 11 नवंबर को यहां से 5 किमी दूर गोरना गांव से अपहृत सब इंजीनियर अजय रौशन लकड़ा की कुशलता को लेकर चिंता की और कहा कि अभी परिवार के लोग काफी परेशान हैं और विभाग के लोग भी।

यह भी पढ़ें :  कुदाली और फावड़े से एक नई मुहिम की शुरूआत, पहले दिन लोगों का उत्साह उमड़ा

Read More:

आदिवासी नेताओं ने नक्सलियों से अपील की है कि उन्हें जल्दी छोड़ दें और मानवता का परिचय दें। इस मौके पर समाज के लोगोें ने कहा कि सारकेगुड़ा और एड़समेटा में कई निर्दोष लोगों की जानें गईं और कई घायल हुए। इस पर फैसला भी आ गया है। न्याय को लेकर आदिवासी अभी भी आंदोलनरत हैं।

यह भी पढ़ें :  चिंतावागु नदी में डूबे किसान के 83 मवेशी, तट पर बांध रखे थे गाय और बैल

आदिवासी नेताओं ने पीड़ित परिवारों को मुआवजा और परिवार के एक-एक सदस्य को नौकरी देने की मांग की है। बैठक में आदिवासी नेता अशोक तलाण्डी, तारकेश्वर पैकरा, यालम त्रिपति, कुंजाम धनेश, उईका विनय, लक्ष्मण कड़ती, मंगल राना, अनिल बुरका, हरीष मांझी, प्रभुदयाल मांझी, सोनाधर मांझी, दशरथ कश्यप, दैमन बघेल, लक्षीम कश्यप आदि मौजूद थे।

भारत रत्न की मांग उठी

आदिवासी नेताओं ने कहा कि बिरसा मुण्डा एक महानायक थे और उन्हें भारत रत्न दिया जाना चाहिए। नौ अगस्त को विश्व जनजातीय दिवस पर अवकाश की घोषणा की गई है। इसी तरह 10 फरवरी भूमकाल दिवस पर भी अवकाश घोषित होना चाहिए। आदिवासी नेताओं ने कहा कि यहां बांस कटाई को सालभर हो गया है लेकिन अब तक मजदूरी का भुगतान वन विभाग ने नहीं किया है। इसका भुगतान जल्द होना चाहिए।

यह भी पढ़ें :  किरन्दुल व बचेली के ये इलाके कंटेनमेंट ज़ोन घोषित... ट्रक ड्राईवर व हेल्परों को कराना होगा एंटीजन टेस्ट, देनी होगी रिपोर्ट