ग्रामीणों के पलायन पर जिपं अध्यक्ष ने दिखाए कड़े तेवर… बैठक में दो टूक कहा- पलायन हुआ तो नपेंगे सरपंच, सचिव व रोजगार सहायक !

45

ग्रामीणों के पलायन पर जिपं अध्यक्ष ने दिखाए कड़े तेवर… बैठक में दो टूक कहा- पलायन हुआ तो नपेंगे सरपंच, सचिव व रोजगार सहायक !

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। दक्षिण बस्तर में ग्रामीणों का पलायन थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस गंभीर मामले में पंचायतों की लापरवाही सामने आने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष ने कड़े तेवर दिखाते हुए संबंधित पंचायत के सरपंच, सचिव और रोजगार सहायकों पर कार्रवाई के संकेत दिए हैं।

बता दें कि शुक्रवार को कटेकल्याण ब्लॉक मुख्यालय के ग्राम पंचायत चिकपाल, टेटम, परचेली के सैकड़ों ग्रामीण आंध्रप्रदेश पलायन करने दंतेवाड़ा पहुँचे थे। मौके पर पहुँच जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा ने सभी ग्रामीणों को समझाइश देकर वापस गांव भेज दिया था।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  फेसबुक में कमेंट करने पर गिरी निलंबन की गाज, आचार संहिता उल्लंघन मामले में 2 सहायक शिक्षक सस्पेंड

घटना के दूसरे ही दिन जिपं अध्यक्ष ने कटेकल्याण पहुँच सभी पंचायत के सरपंच, सचिव, रोजगार सहायकों की बैठक ली। जिपं अध्यक्ष ने बैठक में कहा कि मनरेगा के माध्यम से हर पंचायत को काम दिया जा रहा है फिर भी हमारे ग्रामीण पलायन कर रहे हैं। गांव में सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक की जिम्मेदारी बनती है की वे ग्रामीणों को जागरूक करें।

पलायन होने पर होगी कार्रवाई

तुलिका कर्मा ने कहा कि आप सब की उदासीनता के चलते सरकार की योजना ग्रामीणों तक नहीं पहुँच रही है। जिपं अध्यक्ष ने कड़े शब्दों में कहा कि अगर अब किसी भी कटेकल्याण के पंचायत से पलायन होता है तो सरपंच, सचिव और रोजगार सहायकों पर कारवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें :  CG बिग ब्रेकिंग: इन जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू... स्कूल, आंगनबाड़ी में भी लगेगा ताला, कलेक्टर, SP को सरकार ने जारी किया निर्देश

जिपं अध्यक्ष ने रोजगार सहायकों को निर्देश दिया है कि वे मटेरियल का मूल्यांकन करने का दिन निर्धारित करें, ताकि समय पर ग्रामीणों को मजदूरी का भुगतान हो सके। हर पंचायत में सरपंच, सचिव समन्वय बनाकर कार्य करेंगे तभी पलायन रोका जा सकता है। तुलिका ने कटेकल्याण के जनपद सीईओ को भी निर्देश दिया कि वे हर सप्ताह मनरेगा के कार्यो की मॉनिटरिंग करें और लंबित भुगतानों को जल्द से जल्द निपटाए।

Read More:

बैठक में मौजूद जिला पंचायत सीईओ अश्विनी देवांगन ने कहा कि अब पंचायत के हर कार्यों की जानकारी सचिव व रोजगार सहायक जिला पंचायत में व सरपंच जिपं अध्यक्ष को देंगे। सीईओ ने कहा कि कार्य में लापरवाही अब बिल्कुल बर्दाश्त नहीं जाएगी। आप सभी हमारा साथ देंगे तो ही हम पलायन रोकने में कामयाब हो पाएंगे। बैठक में जिला पंचायत सदस्य शंकर कुंजाम, बीरेंद्र नाग, लखमू उपस्थित थे।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  नगर के आधे हिस्से में साढ़े 7 घंटे गुल रही बिजली... सब स्टेशन में लगा कंट्रोलर, ट्रांसफार्मर की क्षमता भी बढ़ाई गई


खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…